Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Social Media पर नाबालिग की पहचान बताने पर घिरे दिल्ली के मंत्री, LG को पत्र लिख की कार्रवाई की मांग

उपराज्यपाल के सचिव को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि आयोग को दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम द्वारा ट्विटर पर डाली गई एक वीडियो के खिलाफ शिकायत मिली है। वीडियो में मंत्री दिल्ली में एक बाल देखभाल संस्थान (सीसीआई) का निरीक्षण कर रहे हैं, जिससे बच्चों की पहचान और संस्थान का नाम सार्वजनिक होता दिख रहा है।

Social Media पर नाबालिग की पहचान बताने पर घिरे दिल्ली के मंत्री, LG को पत्र लिख की कार्रवाई की मांग
X

LG को पत्र लिख की कार्रवाई की मांग

दिल्ली में सोशल मीडिया (Social Media) पर नाबालिग की पहचान बताने पर दिल्ली के मंत्री (Delhi Minister) घिर गए है। जिसके बाद उनके खिलाफ कार्रवाई (Demanding Action) की मांग की जा रही है। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल (Lieutenant Governor Anil Baijal) को पत्र लिखकर सोशल मीडिया पर डाली गई पोस्ट में नाबालिगों की पहचान सार्वजनिक करने के मामले में मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम (Rajendra Pal Gautam) के खिलाफ कार्रवाई की अपील की। आपको बता दें कि अधिनियम की धारा 74 के तहत किसी भी मीडिया प्लेटफॉर्म पर बच्चों का नाम, पता, आयु या स्कूल के बारे में जानकारी सार्वजनिक करना अपराध है।

दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम ट़वीट कर डाली थी वीडियो

उपराज्यपाल के सचिव को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि आयोग को दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम द्वारा ट्विटर पर डाली गई एक वीडियो के खिलाफ शिकायत मिली है। वीडियो में मंत्री दिल्ली में एक बाल देखभाल संस्थान (सीसीआई) का निरीक्षण कर रहे हैं, जिससे बच्चों की पहचान और संस्थान का नाम सार्वजनिक होता दिख रहा है।

किशोर न्याय अधिनियम, 2015 के तहत कड़ी कार्रवाई करने की मांग

वीडियो में यह भी पता चल रहा है कि इस सीसीआई में रह रहे बच्चे अनाथ हैं। आयोग ने मंत्री के खिलाफ किशोर न्याय अधिनियम, 2015 के तहत कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। अधिनियम की धारा 74 के तहत किसी भी मीडिया प्लेटफॉर्म पर बच्चों का नाम, पता, आयु या स्कूल के बारे में जानकारी सार्वजनिक करना अपराध है।

Next Story