Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फिर से Delhi Metro में दिखेगी यात्रियों की भीड़भाड़, DMRC ने केंद्र से लगाई ये गुहार

घाटे से उभरने के लिए दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने केन्द्र (Central Government) से अपील की है कि वह सुरक्षा नियमों में संशोधन कर राजस्व कमी की पूर्ति करने के लिए उसे पूर्ण क्षमता से ट्रेनों के परिचालन करने की अनुमति दे।

फिर से Delhi Metro में दिखेगी यात्रियों की भीड़भाड़, DMRC ने केंद्र से लगाई ये गुहार
X

फिर से Delhi Metro में दिखेगी यात्रियों की भीड़भाड़

कोविड-19 महामारी (Corona Pandemic) के कारण दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) आधी क्षमता से चल रही है। जिसके कारण दिल्ली मेट्रो घाटे में जा रही है। घाटे से उभरने के लिए दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने केन्द्र (Central Government) से अपील की है कि वह सुरक्षा नियमों में संशोधन कर राजस्व कमी की पूर्ति करने के लिए उसे पूर्ण क्षमता से ट्रेनों के परिचालन करने की अनुमति दे। ज्ञात हो कि महामारी की वजह से करीब पांच महीने तक बंद रहने के बाद 12 सितंबर को सभी मार्गों पर सेवा शुरू की गई थी। इससे पहले सात सितंबर से येलो लाइन (Yellow Line) पर सीमित ट्रेनों का परिचालन प्रायोगिक तौर पर सुरक्षा निर्देशों के सख्त अनुपालन के साथ किया गया था।

कोरोना के कारण दिल्ली मेट्रो पर पड़ा वित्तीय स्थिति पर बुरा असर

मेट्रो के मुताबिक 22 मार्च को लागू लाकडाउन के बाद 169 दिनों तक सेवा बंद रहने से उसकी वित्तीय स्थिति पर बुरा असर पड़ा है और सेवा बहाल करने के बाद भी यात्रियों की संख्या सीमित होने से वित्तीय स्थिति और प्रभावित हुई है। सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने कोविड-19 सुरक्षा प्रोटोकॉल में संशोधन करने एवं पूरी सीट क्षमता से ट्रेनों का परिचालन करने के लिए केन्द्र को पत्र लिखा है ताकि राजस्व बढ़ाया जा सके। उन्होंने बताया कि पत्र में शहरी आवास एवं विकास मंत्रालय द्वारा पिछले साल अक्टूबर में बसों को पूरी सीट क्षमता के साथ चलाने की अनुमति का भी हवाला दिया गया है।

दिल्ली मेट्रो ने परिचालन के लिए केंद्र और राज्य सरकारों से की अपील

सूत्रों ने बताया कि इसके अलावा डीएमआरसी पहले ही केन्द्र, दिल्ली, उत्तर प्रदेश एवं हरियाणा सरकार से परिचालन के लिए 1,648.4 करोड़ रुपये की सहायता मांग चुका है। उल्लेखनीय है कि सितंबर में डीएमआरसी की सेवा बहाल होने के बाद कोविड-19 सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत यात्रियों को एक सीट छोड़कर बैठने का निर्देश है जिससे कोच में यात्रा की क्षमता और कम हो गई है। इसकी वजह से कम संख्या में यात्री मेट्रो में यात्रा कर पा रहे हैं और मेट्रो स्टेशनों पर लंबी कतार लग रही है।

Next Story