Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Metro: दिल्ली मेट्रो में पीक आवर के दौरान यात्रियों की बढ़ी परेशानी, DMRC ने किया ये बड़ा बदलाव

Delhi Metro: दिल्ली में राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर पीक आवर में यात्रियों के लिए औसतन प्रतीक्षा समय एक घंटा 20 मिनट रहा। इससे पहले यह एक घंटा था। इस बाबत दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है।डीएमआरसी ने ट्वीट में लिखा कि भीड़ कम होने पर प्रतीक्षा समय में बदलाव होने पर यात्रियों को जानकारी दी जाएगी। इसका मकसद कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में लोगों की यात्रा आसान और सुरक्षित बनाना है।

Delhi Metro: दिल्ली मेट्रो में पीक आवर के दौरान यात्रियों की बढ़ी परेशानी, DMRC ने किया बड़ा बदलाव
X

दिल्ली मेट्रो में पीक आवर के दौरान यात्रियों की बढ़ी परेशानी

दिल्‍ली में कोरोना महामारी (Corona Pandemic) से हालात धीरे-धीरे ठीक हो रहे है। जिसके कारण दिल्ली में अनलॉक (Unlock 4.0) की प्रक्रिया चल रही है। इस अनलॉक के चौथे चरण में कुछ गतिविधियों को छोड़कर सभी गतिविधियों को खोला चुका है। इस कारण वश दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) पर लगातार यात्रियों की संख्या बढ़ रही है। इसलिए दिल्ली मेट्रो रेल निगम (DMRC) को भीड़ को नियंत्रित करना बेहद मुश्किल हो रहा है। क्योंकि हर रोज मेट्रो स्टेशनों के बाहर लोगों की लंबी-लंबी कतारें लग रही हैं। जिसे देखते हुए डीएमआरसी ने बड़ा फैसला किया है। इस फैसले से पीक आवर में यात्रियों को परेशानी हो सकती है।

आपको बता दें कि दिल्‍ली मेट्रो स्‍टेशन के बाहर लंबी कतारें लगने के कारण कई इंटरचेंज स्टेशनों पर औसतन प्रतीक्षा समय बढ़ रहा है। खासकर पीक आवर यानी सुबह और शाम लोगों को बहुत दिक्कत आ रही है। इसके अलावा कई बार तो मेट्रो स्टेशनों को भी बंद करना पड़ जाता है। दिल्ली में राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर पीक आवर में यात्रियों के लिए औसतन प्रतीक्षा समय एक घंटा 20 मिनट रहा। इससे पहले यह एक घंटा था। इस बाबत दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है।

डीएमआरसी ने ट्वीट में लिखा कि भीड़ कम होने पर प्रतीक्षा समय में बदलाव होने पर यात्रियों को जानकारी दी जाएगी। इसका मकसद कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में लोगों की यात्रा आसान और सुरक्षित बनाना है। जैसा कि आपको पता है दिल्ली मेट्रो यात्रियों की 50 फीसदी क्षमता के साथ ही चल रही है। इस समय मेट्रो कोचों में यात्रियों को एक सीट छोड़कर ही बैठने की अनुमति है। जबकि मेट्रो में इस समय खड़े होकर यात्रा करने पर पूरी तरह से पाबंदी है। इसके अलावा मेट्रो स्‍टेशन पर प्रवेश करते समय यात्रियों की जांच व सैनिटाइजेशन करके ही प्रवेश दिया जा रहा है। वहीं, सोशल डिस्‍टेंसिंग और मास्क के नियम का पालन नहीं करने पर यात्रियों पर 200 रुपये जुर्माना लगाया जा रहा है।

Next Story