Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Metro: दिल्ली मेट्रो में जल्द मोबाइल फोन से यात्री कर सकेंगे एंट्री, DMRC ने दी इस सुविधा के बारे में जानकारी

Delhi Metro: इस योजना की लागत 400 करोड़ से अधिक बताई जा रही है। डीएमआरसी के मुताबिक, सभी स्टेशनों पर लगे एएफसी गेट के साफ्टवेयर को अपग्रेड करने के बाद मौजूदा आठ मेट्रो कॉरिडोर पर एक साथ एनसीएमसी को लागू किया जाएगा। एनसीएमसी की योजना के तहत रुपे डेबिट कार्ड को सार्वजनिक परिवहन के वाहनों में किराया भुगतान के लिए कॉमन मोबिलिटी कार्ड के रूप में स्वीकृति मिली है।

Delhi Metro: दिल्ली मेट्रो में जल्द मोबाइल फोन से यात्री कर सकेंगे एंट्री, DMRC ने दी इस सुविधा के बारे में जानकारी
X

Delhi Metro दिल्ली मेट्रो ने यात्रियों को बेहतरीन सुविधा देने पर विचार कर रही है। इस बारे में दिल्ली मेट्रो रेल कॉपोरेशन (DMRC) ने जानकारी देते हुए कहा कि मेट्रो में नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (National Common Mobility Card) लागू करने की जा रही है। इसे यात्रियों को कई सुविधा मिलेगी। जैसे इसके लागू होने से यात्री अपने मोबाइल से मेट्रो में एंट्री कर सकेंगे। इसके लिए डीएमआरसी मेट्रो स्टेशनों पर लगे आटोमेटिक फेयर कलेक्शन गेट को आधुनिक सुविधा से लेस किया जा रही है।

जिससे यात्रियों को एंट्री करने में कोई परेशानी न आए। इस योजना की लागत 400 करोड़ से अधिक बताई जा रही है। डीएमआरसी के मुताबिक, सभी स्टेशनों पर लगे एएफसी गेट के साफ्टवेयर को अपग्रेड करने के बाद मौजूदा आठ मेट्रो कॉरिडोर पर एक साथ एनसीएमसी को लागू किया जाएगा। एनसीएमसी की योजना के तहत रुपे डेबिट कार्ड को सार्वजनिक परिवहन के वाहनों में किराया भुगतान के लिए कॉमन मोबिलिटी कार्ड के रूप में स्वीकृति मिली है।

डीएमआरसी ने यह योजना केंद्र के एक योजना वन नेशन वन कार्ड की तर्ज पर शुरू करने जा रहा है। इस संबंध में दिल्ली में मेट्रो के फेस फोर में हो रहे निर्माणधीन स्टेशनों और मेट्रो कॉरिडोर पर सभी एएफसी गेट को अपग्रेड करने का काम शुरू कर दिया गया है। आपको बता दें कि इस योजना के शुरू हो जाने के बाद यात्री डेबिट कार्ड और मोबाइल फोन के जरिये दिल्ली मेट्रो में सफर कर सकेंगे। दिल्ली मेट्रो में यात्रियों को सुविधा देने के लिए कई कदम उठाए जा रहे है। डीएमआरसी ने हाल ही में फेस1 और फेस 2 के मेट्रो स्टेशनों पर 12 अतिरिक्त एस्केलेटर लगाए हैं। जिससे आने जाने में यात्रियों को सुविधा हो। वहीं इस समय दिल्ली मेट्रो में 286 स्टेशनों पर 1140 से अधिक एस्केलेटर और 26 ट्रैवलेटर स्थापित और चालू हैं।

Next Story