Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली मेट्रो के इस स्टेशन की दीवारों पर क्षेत्रीय कलाकृतियों को दर्शाया जाएगा, DMRC ने दी जानकारी

डीएमआरसी ने बताया कि कलाकृतियां इस स्टेशन से गुजरने वाले यात्रियों का ध्यान आकर्षिक करेंगी। ये कलाकृतियां डीएमसआरसी के वास्तुकला विभाग ने चुनी है और इसे युवा कलाकारों तथा फोटोग्राफरों ने बनाया है। ग्रे लाइन के विस्तार के साथ ही दिल्ली मेट्रो का नेटवर्क अब 390 किलोमीटर का होगा जिसमें 286 मेट्रो स्टेशन होंगे।

दिल्ली मेट्रो के इस स्टेशन की दीवारों पर क्षेत्रीय कलाकृतियों को दर्शाया जाएगा, DMRC ने दी जानकारी
X

दिल्ली मेट्रो के इस स्टेशन की दीवारों पर क्षेत्रीय कलाकृतियों को दर्शाया जाएगा

दिल्ली मेट्रो की 'ग्रे लाइन' (Delhi Metro Gray Line) की एक स्टेशन पर क्षेत्रीय कलाकृतियों (Regional Artefacts) को दर्शाया जाएगा। ये स्टेशन नजफगढ़ (Najafgarh) का है जिसकी दीवारों पर कलाकृतियों के जरिए क्षेत्र की धरोहर, संस्कृति और जैव विविधता दर्शाने का फैसला किया गया है। इस बारे में दिल्ली मेट्रो रेल कॉपोरेशन (DMRC) के अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। 'ग्रे लाइन' के विस्तार के तौर पर बनाए ढांसा बस स्टैण्ड मेट्रो स्टेशन (Dhansa Bus Stand Metro Station) के जुलाई अंत तक शुरू होने की संभावना है। मेट्रो रेल सुरक्षा आयुक्त (CMRRS) से अनिवार्य मंजूरी मिलने के बाद 1.8 किलोमीटर लंबे नजफगढ़-ढांसा बस स्टैण्ड परिसर अब संचालन के लिए तैयार है।

इसके लिए जल्द खोला जाएगा कॉरिडोर

इस कॉरिडोर को खोलने की तारीख जल्द ही बता दी जाएगी। लगभग 4.2 किलोमीटर लंबी ग्रे लाइन (द्वारका-नजफगढ़ कॉरिडोर) के विस्तार से नजफगढ़ के आसपास के अंदरुनी इलाकों के निवासियों को काफी लाभ होगा। द्वारका-ढांसा बस स्टैण्ड कॉरिडोर पर आगामी स्टेशन को आकर्षित कलाकृतियों और तस्वीरों से सजा दिया गया है जो राष्ट्रीय राजधानी के इस उपनगर की समृद्ध धरोहर, संस्कृति, वन और जीव समूह को दर्शाती है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दक्षिण पश्चिम दिल्ली के नजफगढ़-ढांसा क्षेत्र की गहरी सांस्कृतिक जड़ें हैं। इसका इतिहास काफी समृद्ध है।

विशिष्ट गुणों को दिखाने की जाएगी कोशिश

कलाकृतियों और तस्वीरों के जरिये इस इलाके के विशिष्ट गुणों को दिखाने की कोशिश की गयी है। नजफगढ़ और ढांसा के बीच स्थित 'झील' बड़ी संख्या में बारहमासी स्थानीय वन्य जीवों और प्रवासी पक्षियों के लिए एक पारिस्थितिकी स्वर्ग हैं। तोते, चील, बत्तख, चिड़िया, किंगफिशर इस इलाके में रहते हैं। दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने एक बयान में कहा कि स्टेशन में 'प्रिंटेड ग्लास पैनल' पर तस्वीरें इस इलाके की समृद्ध जैव विविधता को दिखाती हैं और इसकी थीम 'प्रवासी पक्षी' हैं। इस इलाके के आसपास के गांवों को उनकी लोक-साहित्य के लिए जाना जाता है।

यात्रियों का ध्यान करेंगी आकर्षिक

गांव अपने ऐतिहासिक महत्ता का जश्न मनाने के लिए मेलों का आयोजन करते हैं। डीएमआरसी ने बताया कि कलाकृतियां इस स्टेशन से गुजरने वाले यात्रियों का ध्यान आकर्षिक करेंगी। ये कलाकृतियां डीएमसआरसी के वास्तुकला विभाग ने चुनी है और इसे युवा कलाकारों तथा फोटोग्राफरों ने बनाया है। ग्रे लाइन के विस्तार के साथ ही दिल्ली मेट्रो का नेटवर्क अब 390 किलोमीटर का होगा जिसमें 286 मेट्रो स्टेशन होंगे।

Next Story