Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Metro: दिल्ली मेट्रो की 'ब्लू लाइन' पर फिर आई समस्या, सेवाओं में देरी से यात्री हुए परेशान

Delhi Metro: मेट्रो अधिकारियों का कहना है कि इसका फायदा यह होगा कि अगर कोई दिल्ली का नहीं है तो मुंबई या अहमदाबाद मेट्रो का भी कार्ड होगा तो उससे भी दिल्ली मेट्रो में सफर कर पाएंगे। उन्हें अलग से कोई टोकन या स्मार्ट कार्ड की जरूरत नहीं पड़ेगी।

Delhi Metro: दिल्ली मेट्रो में यात्रा करने वालों के लिए बुरी खबर, 10 सितम्बर यात्रियों को होगी परेशानी, किया गया ये बदलाव
X

 दिल्ली मेट्रो में यात्रा करने वालों के लिए बुरी खबर

Delhi Metro दिल्ली मेट्रो की 'ब्लू लाइन' पर आज ट्रेनों की आवाजाही धीमी रही। डीएमआरसी ने ट्वीट किया कि द्वारका सेक्टर-नौ से द्वारका सेक्टर-21 के बीच ट्रेनों की आवाजाही धीमी है। अन्य 'लाइन' पर सेवाएं सामान्य है। डीएमआरसी की 'ब्लू लाइन' पर 'सिग्नल' की समस्या के कारण बुधवार को भी मेट्रो सेवाओं में कुछ देर का विलंब हुआ था। 'ब्लू लाइन' दिल्ली के द्वारका को नोएडा के 'इलेक्ट्रॉनिक सिटी' स्टेशन से जोड़ती है।

राजधानी में कोरोना वायरस को देखते हुए दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) बदलाव करने जा रही है। जानकारी के मुताबिक, डीएमआरसी दिसंबर 2022 तक कांटेक्टलेस टिकटिंग की दिशा में काम कर रही है। यानि मेट्रो में यात्रा करने के लिए टोकन (Token) और स्मार्ट कार्ड (Smart Card) की जरूरत नहीं होगी। आप आपने मोबाइल फोन या फिर बैंक का डेबिट या क्रेडिट कार्ड से ही यात्रा कर सकेंगे। दिल्ली मेट्रो ने इसे लेकर 23 बैंकों के साथ समझौता भी किया है।

दिल्ली मेट्रो की योजना- योजना वन नेशन वन कॉर्ड

इस संबंध में डीएमआरसी ने कहा कि अब हम एक साथ ही पूरे नेटवर्क पर इसकी शुरूआत करेंगे। दिल्ली मेट्रो का योजना वन नेशन वन कॉर्ड के तहत आगे बढ़ा रही है। इसके तहत क्यूआर (क्वीक रिस्पांस) कोड या रूपे कार्ड के जरिए आप मेट्रो में यात्रा कर पाएंगे। इसमें मोबाइल पर दिल्ली मेट्रो ऐप से स्कैन करने की सुविधा होगी दूसरी अगर कोई ऐसा बैंक कार्ड है जिसे रू पे कार्ड से वैधता मिली है तो उससे आपके यात्रा का पैसा सीधे बैंक खाते से कट जाएगा। मेट्रो अधिकारियों का कहना है कि इसका फायदा यह होगा कि अगर कोई दिल्ली का नहीं है तो मुंबई या अहमदाबाद मेट्रो का भी कार्ड होगा तो उससे भी दिल्ली मेट्रो में सफर कर पाएंगे। उन्हें अलग से कोई टोकन या स्मार्ट कार्ड की जरूरत नहीं पड़ेगी।

मेट्रो का नेटवर्क 389 किलोमीटर लंबा

दिल्ली मेट्रो का नेटवर्क 389 किलोमीटर लंबा है। दिल्ली मेट्रो के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हम एकसाथ तीन चरणों के नेटवर्क पर यह सुविधा शुरू करेंगे। जिससे यात्रियों को अलग-अलग लाइन पर इसे लेकर समस्या नहीं आए। इसके लिए दिसंबर 2022 तक का लक्ष्य रखा गया है। मगर मेट्रो फेज चार में बन रहे 65.10 किलोमीटर के नेटवर्क पर पहले दिन से इस तकनीक का प्रयोग किया जाएगा। जिससे 2025 तक दिल्ली के पूरे नेटवर्क पर कांटेक्टलेस टिकटिंग की सुविधा होगी।

Next Story