Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Holi 2021: अबकी बार होली पर कोरोना की मार, दिल्ली के बाजार हुए बेरंग, नहीं हो रही रंग और पिचकारियों की बिक्री

Delhi Holi 2021: रंगों के पावन पर्व होली पर दिल्ली के बाजार इस बार कोरोना महामारी के कारण बेरंग ही नजर आएंगे और इसलिए चांदनी चौक, सदर बाजार, चावड़ी बाजार, खारी बावली, कश्मीरी गेट, करोल बाग, कनॉट प्लेस, लाजपत नगर, खान मार्केट, साउथ एक्स, सरोजिनी नगर, लक्ष्मी नगर, गांधीनगर, राजौरी गार्डन आदि बाजारों से भी रौनक और चहल-पहल गायब है।

Delhi Holi 2021: अबकी बार होली पर कोरोना की मार, दिल्ली के बाजार हुए बेरंग, नहीं हो रही रंग और पिचकारियों की बिक्री
X

अबकी बार होली पर कोरोना की मार

Delhi Holi 2021: दिल्ली में कोरोना (Corona Pandemic) ने एक बार फिर से सिर उठाना शुरू कर दिया है। रोजाना बेहताशा मामलों में वृद्धि हो रही है। इस साल तो हर रोज कोरोना संक्रमण (Corona Positive) के मामले रिकॉर्ड तोड़ रहे है। ऐसे में दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने आने वाले त्योहारों को लेकर कोरोना गाइडलांइस (Covid Guidelines) जारी कर दिए है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने शब ए बारात से लेकर होली और नवरात्रि के त्योहार को भी सार्वजनिक जगहों पर मनाने से रोक लगा दी है।

दिल्ली सरकार की तरफ से इसको लेकर एक औपचारिक आदेश जारी कर दिया गया। इसके साथ ही दिल्ली में तैनात सभी अफसरों को इस आदेश को लेकर सख्ती बरतने के निर्देश दिये गये हैं। वहीं, रंगों के पावन पर्व होली पर दिल्ली के बाजार इस बार कोरोना महामारी के कारण बेरंग ही नजर आएंगे और इसलिए चांदनी चौक, सदर बाजार, चावड़ी बाजार, खारी बावली, कश्मीरी गेट, करोल बाग, कनॉट प्लेस, लाजपत नगर, खान मार्केट, साउथ एक्स, सरोजिनी नगर, लक्ष्मी नगर, गांधीनगर, राजौरी गार्डन आदि बाजारों से भी रौनक और चहल-पहल गायब है। राजधानी के बड़े बाजारों में लौंगलता गुझिया, केसर गुझिया, प्लेन गुझिया, ड्राई फ्रूड गुझिया, समोसा गुझिया, चंद्रकला गुझिया, फूल गुझिया, रोस्टेड गुझिया आदि तमाम तरह की गुझिया रखी हैं। लेकिन कोई भी ग्राहक खरीदने को तैयार नहीं है। वहीं भीड़ को नियंत्रण करने के लिए बाजारों में सख्त कदम उठाए जा रहे है।

बिना मास्क और बिना सोशल डिस्टेंसिंग के पकड़े जाने पर उनके खिलाफ जरूरी कार्रवाई भी हो रही है। वहीं दुकानदार लोगों को लुभाने के लिए गिफ्ट भी ऑफर कर रहे हैं। लेकिन बाजारों से ग्राहक नदारद ही दिख रहे हैं। कोरोना वायरस के खौफ के कारण होली पर सबसे ज्यादा बच्चे नाखुश दिख रहे है। क्योंकि बच्चे ही होली का त्योहार मजे लेकर मनाते है। लेकिन इस बार बच्चे न रंग और न ही पिचकारियों से होली मना पाएंगे। क्योंकि घर के बड़े लोग बच्चों को बाहर जाने से ही मना करने वाले है। ऐसे में बच्चों का मनपसंदीदा त्योहार फिका रहने वाला है। उधर, व्यापारियों का कहना है कि इस साल भी होली का त्योहार हमारे लिए बेरंग साबित होने वाला है। हमने होली पर कई सारी तैयारियां की थी। दुकान में माल भी भरवा लिया था लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण फिर से सख्ती बढ़ा दी गई है। अब हमारी होली भगवान भरोसे ही है।

Next Story