Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

WHO की रिपोर्ट पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने दी सफाई, कहा- देश का पता नहीं लेकिन...

भारत में कोरोना महामारी (Corona Pandemic) से हुई मौतों को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) की ओर से जारी किए गए आकड़ों के बाद देश में हड़कंप मच गया है। डब्ल्यूएचओ (WHO) ने कहा पिछले दो सालों में दुनिया भर में कोरोना (corona virus) से करीब डेढ़ करोड़ लोगों की जान चली गई है।

WHO की रिपोर्ट पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने दी सफाई, कहा- देश का पता नहीं लेकिन...
X

भारत में कोरोना महामारी (Corona Pandemic) से हुई मौतों को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) की ओर से जारी किए गए आकड़ों के बाद देश में हड़कंप मच गया है। डब्ल्यूएचओ (WHO) ने कहा पिछले दो सालों में दुनिया भर में कोरोना (corona virus) से करीब डेढ़ करोड़ लोगों की जान चली गई है। तो भारत में कोरोना से 47 लाख लोगों की मौत हुई है।

जोकि भारत का आंकड़ा पूरी दुनिया में हुई मौतों का एक तिहाई है। इसी बीच दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) ने कहा कि देश को पता नहीं है लेकिन मौतों को लेकर दिल्ली के आंकड़े बिल्कुल सही हैं। डब्ल्यूएचओ (WHO) के दावे पर पूछे गए सवाल पर सत्येंद्र जैन ने कहा कि मैं पूरे देश के बारे में नहीं बता सकता लेकिन दिल्ली के आंकड़े बिल्कुल सही हैं।

दिल्ली में कोविड से अब तक करीब 25,600 मौतें हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि हमने मौतों की संख्या न तो कम की और न ही बढ़ाई है। उन्होंने दावा किया है कि दिल्ली में एक भी मौत के आंकड़े में हेराफेरी नहीं की गई है। डब्ल्यूएचओ ने गुरूवार को कहा था कि दुनिया भर में मरने वालों की संख्या की सही गणना नहीं की गई है। भारत (India) में जितने गिने गए हैं उससे करीब 10 गुना ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

वही ऐसे में भारत सरकार (Government of India) ने WHO की रिपोर्ट पर आपत्ति दर्ज कराई है। सरकार के मुताबिक WHO ने जिस तकनीक या मॉडल के जरिए ये आंकड़े जुटाए हैं, वह सही नहीं है। जारी बयान में कहा गया है कि भारत की आपत्तियों के बावजूद डब्ल्यूएचओ (WHO) ने पुरानी तकनीक और मॉडल के जरिए मौत के आंकड़े जारी किए हैं, भारत की चिंताओं पर ठीक से ध्यान नहीं दिया गया।

और पढ़ें
Next Story