Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली सरकार महिला सशक्तीकरण को लेकर उठा रही कई कदम, विधायक आतिशी ने दी जानकारी

आप विधायक ने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य और परिवहन के क्षेत्र में पिछले छह वर्ष में दिल्ली सरकार की नीतियों के बारे में उन्होंने ब्योरा देते हुए कहा कि पिछले छह वर्ष में स्कूलों में आधारभूत ढांचे में सिलेसिलेवार निवेश, शिक्षकों की पर्याप्त संख्या सुनिश्चित करना ,शिक्षण की गुणवत्ता में सुधार जैसे कदम दिल्ली में सरकारी शिक्षा के क्षेत्र में उठाए गए हैं।

दिल्ली सरकार महिला सशक्तीकरण को लेकर उठा रही कई कदम, विधायक आतिशी ने दी जानकारी
X

विधायक आतिशी 

दिल्ली में महिलाओं के सशक्तीकरण (Delhi Women Empowerment) को लेकर केजरीवाल सरकार (Delhi Government) कई कदम उठा रही है। इस बारे में आम आदमी पार्टी (AAP) नेता आतिशी (Atishi Marlena) ने शनिवार को जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए कई कदम उठाए हैं जिनमें शिक्षा की गुणवत्ता में चरणबद्ध तरीके से सुधार करना, स्वास्थ्य देखभाल और यातायात सेवाओं तक पहुंच शामिल है। आतिशी ने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य देखभाल दिल्ली सरकार की सबसे बड़ी नीतिगत प्राथमिकताएं हैं।

महिलाओं के लिए दिल्ली में सरकारी शिक्षा के क्षेत्र में उठाए गए

आप विधायक ने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में कुल बजट का क्रमश 25 प्रतिशत और 15-17 प्रतिशत खर्च किया जाता है। वह स्थानीय एवं क्षेत्रीय सरकार दिवस फेमनिस्ट म्यूनसिपल मूवमेंट कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं। शिक्षा, स्वास्थ्य और परिवहन के क्षेत्र में पिछले छह वर्ष में दिल्ली सरकार की नीतियों के बारे में उन्होंने ब्योरा देते हुए कहा कि पिछले छह वर्ष में स्कूलों में आधारभूत ढांचे में सिलेसिलेवार निवेश, शिक्षकों की पर्याप्त संख्या सुनिश्चित करना ,शिक्षण की गुणवत्ता में सुधार जैसे कदम दिल्ली में सरकारी शिक्षा के क्षेत्र में उठाए गए हैं।

महिलाओं को वहनीय स्वास्थ्य देखभाल मुहैया कराई गई

आतिशी ने कहा कि इससे इस प्रकार का बदलाव आया है कि सरकारी स्कूल पिछले चार वर्ष से निजी स्कूलों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। जन स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में आप नेता ने कहा कि मोहल्ला क्लिनिक ने कम आय वर्ग के लोगों खासतौर पर महिलाओं को वहनीय स्वास्थ्य देखभाल मुहैया कराई है। उन्होंने कहा कि मोहल्ला क्लिनिक पर अध्ययन करने वाले एक थिंकटैंक ने पाया कि इन क्लिनिक में आने वाले 85 प्रतिशत मरीज महिलाएं हैं। उन्होंने कहा कि परिवहन तक पहुंच तीसरी अहम पहल है,जो खासतौर पर महिलाओं के लिए है। उन्होंने कहा कि इसके तहत महिलाओं के लिए बसों में मुफ्त यात्रा की व्यवस्था की गई है।

Next Story