Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तीसरी से आठवीं तक के बच्चों के लिए खुशखबरी, परीक्षा से नहीं असाइनमेंट के आधार पर होंगे पास-फेल

सरकार ने दिल्ली के सभी सरकार स्कूलों को निर्देश दिए गए है कि आठवीं तक छात्रों को 'नो डिटेंशन पॉलिसी' के तहत अगली कक्षाओं में प्रमोट किया जाएगा। वार्षिक परीक्षा के बजाय उनका मूल्यांकन असाइनमेंट व वर्कशीट के आधार पर किया जाएगा।

तीसरी से आठवीं तक के बच्चों के लिए खुशखबरी, परीक्षा से नहीं असाइनमेंट के आधार पर होंगे पास-फेल
X

तीसरी से आठवीं तक के बच्चों के लिए खुशखबरी

दिल्ली समेत देशभर में कोरोना महामारी (Corona Pandemic) का कहर जारी है। ऐसे में सबसे ज्यादा असर स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों पर हुआ है। क्योंकि एक तो वे पूरे साल स्कूल (Delhi School) नहीं पा पाए ऊपर से ऑनलाइन क्लास (Online Classed) भी ढंग से नहीं ले पाए। जिसके कारण बच्चों की पढ़ाई पर बुरा असर हुआ है। लेकिन दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने सरकार स्कूल के तीसरी से आठवीं तक के बच्चों के लिए खुशखबरी दी है। सरकार ने दिल्ली के सभी सरकार स्कूलों को निर्देश दिए गए है कि आठवीं तक छात्रों को 'नो डिटेंशन पॉलिसी' (No Dictation Policy) के तहत अगली कक्षाओं में प्रमोट किया जाएगा। वार्षिक परीक्षा के बजाय उनका मूल्यांकन असाइनमेंट व वर्कशीट (Assignment and worksheet) के आधार पर किया जाएगा।

कोरोना महामारी के कारण एक साल से बंद है स्कूल

कोरोना महामारी के कारण एक साल से स्कूल बंद हैं। 2020 में भी इसी आधार पर बच्चों को अगली कक्षाओं में भेजा गया था। शिक्षा निदेशालय ने भी इसके दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं।कोरोना के कारण मार्च 2020 से स्कूल बंद हैं। अप्रैल से स्कूलों में नया सत्र शुरू होता है, ऐसे में इस बार फिर असाइनमेंट के आधार पर ही छात्रों को प्रमोट किया जा रहा है। बच्चों का मूल्यांकन 100 अंकों के आधार पर ही होगा। इसके लिए अंकों की वेटेज भी तय की गई है। कोरोना के कारण उत्पन्न हालात को देखते हुए वैकल्पिक शिक्षा पद्धति का प्रभाव जानने के लिए ही यह मूल्यांकन किया जा रहा है। इससे निदेशालय को अगले सत्र के लिए रणनीति बनाने में मदद मिलेगी।

शिक्षा निदेशालय ने कही ये बात

दिशा-निर्देश के अनुसार, तीसरी से पांचवीं कक्षा तक वर्कशीट पर 30 अंक, सर्दियों की छुट्टियों में दिए गए असाइनमेंट पर 30 अंक और एक से 15 मार्च के बीच दिए जाने वाले प्रोजेक्ट और असाइनमेंट पर 40 अंक दिए जाएंगे। इसी तरह छठवीं से आठवीं कक्षा तक के लिए वर्कशीट पर 20 अंक, सर्दियों की छुट्टियों में दिए गए असाइनमेंट पर 30 अंक और एक से 15 मार्च के बीच दिए जाने वाले प्रोजेक्ट और असाइनमेंट पर 50 अंक दिए जाएंगे। आदेश के अनुसार कि अगर किसी छात्र के पास डिजिटल उपकरण (मोबाइल/लैपटॉप) और इंटरनेट नहीं है तो कोविड-19 दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए ऐसे बच्चों के माता-पिता को स्कूल बुलाकर उन्हें प्रोजेक्ट और असाइनमेंट की हार्ड कॉपी दी जाएगी।

Next Story