Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट में कहा- 150 बिस्तर वाले अस्पताल को हो सकते है शुरू

दिल्ली सरकार ने कहा कि वह इस पर आने वाले खर्च और कोविड-19 केन्द्र चलाने के लिए आवश्यक चीजों का भार नहीं उठा सकती, क्योंकि उसके खुद के अस्पतालों में कर्मचारियों, दवाइयों और उपकरणों की कम है। हाईकोर्ट के दिल्ली सरकार के मल्टी-स्पेशियलिटी अस्पताल को शुरू नहीं करने के तर्क पर सवाल उठाने के बाद यह हलफनामा दाखिल किया गया।

दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट में कहा- 150 बिस्तर वाले अस्पताल को हो सकते है शुरू
X

दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट में कहा

Delhi High Court दिल्ली में कोरोना के मामले कम हो रहे है। देश में कोरोना की दूसरी लहर से दिल्ली की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह चरमा गई थी। ऐसे में तीसरे लहर की बात सामने आने लगी है। जिसके लिए दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने अभी से ही तैयारी शुरू कर दी है। इसी बीच, दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट (Delhi High Court) को बताया कि उस 150 बेड (150 ICU Beds) वाले मल्टी-स्पैशिएलिटी अस्पताल (Multi Specialty Hospital) को शुरू करने के लिए लाइसेंस दिया जा सकता है, जिसे उसकी मूल कम्पनी के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया के कारण बंद कर दिया गया था बशर्ते उसका अपेक्षित बुनियादी ढांचा ठीक हो।

दिल्ली सरकार ने कहा कि वह इस पर आने वाले खर्च और कोविड-19 केन्द्र चलाने के लिए आवश्यक चीजों का भार नहीं उठा सकती, क्योंकि उसके खुद के अस्पतालों में कर्मचारियों, दवाइयों और उपकरणों की कम है। हाईकोर्ट के दिल्ली सरकार के मल्टी-स्पेशियलिटी अस्पताल को शुरू नहीं करने के तर्क पर सवाल उठाने के बाद यह हलफनामा दाखिल किया गया। कोर्ट ने कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के मद्देनजर छह मई को दिल्ली सरकार से लीक से हटकर सोचने के लिए कहा था। हाईकोर्ट ने कहा था कि हम सामान्य परिस्थिति में नहीं है और राजधानी में मरीजों के लिए अस्पतालों में बेड्स की कमी है।

फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने के लिए याचिका दायर

एक कैथोलिक नन ने दिल्ली हाईकोर्ट से मलयालम फिल्म 'एक्वेरियम' की रिलीज पर इस आधार पर रोक लगाने का अनुरोध किया है कि यह ईशनिंदा है और इससे बड़े पैमाने पर ईसाइयों की धार्मिक भावनाएं आहत होगी। यह फिल्म ओटीटी प्लेफॉर्म पर 14 मई को रिलीज होनी है। याचिकाकर्ता नन और पेशे से मनोचिकित्सक जेस्सी मणि ने इस आधार पर फिल्म को रिलीज करने का विरोध किया है कि इसमें कथित तौर पर दो पादरियों के साथ नन के यौन संबंध को दिखाया गया है। फिल्म में सन्नी वायने, हनी रोज और राजश्री पोनप्पा मुख्य भूमिकाओं में हैं।

Next Story