Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Oxygen Crisis: दिल्ली को महज 40 फीसदी मिल रही ऑक्सीजन, राघव चड्ढा बोले- 976 एमटी प्राणवायु की जरूरत

Delhi Oxygen Crisis: राघव चड्ढा ने बताया कि राजधानी के 41 अस्पतालों ने दिल्ली सरकार को तीन मई को ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए एसओएस (जीवन रक्षा संदेश) भेजा, जहां करीब 7000 लोग ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे। पिछले हफ्ते प्रतिदिन औसतन 393 मीट्रिक टन (एमटी) ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई जबकि जरूरत 976 मीट्रिक टन की थी।

Delhi Oxygen Crisis: दिल्ली को महज 40 फीसदी मिल रही ऑक्सीजन, राघव चड्ढा बोले- 976 एमटी प्राणवायु की जरूरत
X

 राघव चड्ढा

Delhi Oxygen Crisis दिल्ली में कोरोना आपदा (Corona Pandemic) ने भयानक तबाही मचा रखी है। इस महामारी से सबसे ज्यादा दिल्ली पर प्रभाव पड़ रहा है। क्योंकि हर रोज तेजी से मौतों का आंकड़ा बढ़ रहा है। वहीं दिल्ली के अस्पतालों (Delhi Hospitals) में संसाधनों की कमी के कारण लगातार लोग अपनी जान गंवा रहे हैं। जिसे लेकर दिल्ली के विधायक राघव चड्ढा (Raghav Chadha) ने दुख जताया है। उन्होंने दिल्ल के अस्पतालों में ऑक्सीजन (Lack Of Oxygen) की किल्लत को लेकर जानकारी दी है।

राघव चड्ढा ने बताया कि राजधानी के 41 अस्पतालों ने दिल्ली सरकार को तीन मई को ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए एसओएस (जीवन रक्षा संदेश) भेजा, जहां करीब 7000 लोग ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे। पिछले हफ्ते प्रतिदिन औसतन 393 मीट्रिक टन (एमटी) ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई जबकि जरूरत 976 मीट्रिक टन की थी। चड्ढा ने कहा कि 41 अस्पतालों ने सोमवार को दिल्ली सरकार को एसओएस संदेश भेजा जहां 7142 लोग ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे।

उन्होंने कहा कि टीम केजरीवाल ने सभी एसओएस कॉल का तत्परता से जवाब दिया और इन अस्पतालों को 21.3 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की। आप सरकार ने दुख जताया कि दिल्ली को पिछले हफ्ते प्रतिदिन औसतन 393 एमटी ऑक्सीजन प्राप्त हुई जबकि जरूरत 976 एमटी की थी। उन्होंने कहा कि 393 एमटी कुल मांग का केवल 40 फीसदी है। चड्ढा ने कहा कि महानगर को सोमवार को 433 एमटी ऑक्सीजन मिली, जो कुल जरूरत का 44 फीसदी है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण महानगर के कई अस्पताल चिकित्सीय ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं।

Next Story