Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Crime: दिल्ली में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, DCW ने तीन नाबालिग को मानव तस्करी से बचाया, मामला दर्ज

Delhi Crime: इस बारे में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने सोमवार को कहा कि हमारी टीम ने मुस्तैदी दिखाते हुए बच्चियों को रेस्क्यू करवाया। छोटी-छोटी बच्चियों को पैसे का लालच देकर सेक्स रैकेट में डाला रहा था। मैं आशा करती हूं कि पुलिस इस मामले प्राथमिकी दर्ज कर जल्द आरोपियों को गिरफ्तार करें।

Delhi Crime: दिल्ली में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, DCW ने तीन नाबालिग को मानव तस्करी से बचाया, मामला दर्ज
X

दिल्ली में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, DCW ने तीन नाबालिग को मानव तस्करी से बचाया

Delhi Crime दिल्ली के नरेला इलाके (Narela Area) में सेक्स रैकेट (Sex Racket) और मानव तस्करी (Human Trafficking) का भंडाफोड़ (Busted) किया गया है। यहां के रहने वाली तीन लड़कियों को बचाया गया है। इस बारे में दिल्ली महिला आयोग (DCW) ने जानकारी दी है। इस बारे में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) ने सोमवार को कहा कि हमारी टीम ने मुस्तैदी दिखाते हुए बच्चियों को रेस्क्यू करवाया। छोटी-छोटी बच्चियों को पैसे का लालच देकर सेक्स रैकेट में डाला रहा था। मैं आशा करती हूं कि पुलिस (Delhi Police) इस मामले प्राथमिकी दर्ज कर जल्द आरोपियों को गिरफ्तार करें।

जानकारी के मुताबिक, तीन बच्चियों में से एक ने 181 पर कॉल करके बताया कि हलीमा नाम की महिला जो गांजे का व्यापार करती है, ने उसे बहकाया कि वह उसे काम दिलवाएगी और काम के बहाने उसने उसे देह व्यापार में झोंक दिया। बच्ची ने बताया कि एक दिन हलीमा उसे बहाने से एक जंगल में ले गयी और वहां जबरन कुछ लड़कों के साथ उस संबंध बनाने को कहा। मना करने पर उसे जान से मारने की धमकी दी गई। पीड़तिा के अनुसार हलीमा इसी तरह गरीब बच्चियों को निशाना बनाती है और उनसे जबरन देह व्यापार करवाती है।

दिल्ली महिला आयोग की टीम ने पुलिस के साथ मिलकर मामले में कार्रवाई शुरू की। बच्चियों ने बताया कि उनमें से एक लड़की की उम्र 15 वर्ष है तो वहीं दो की उम्र 14 वर्ष है। आयोग की टीम ने एसीपी के साथ मिलकर बच्चियों द्वारा बतायी गयी जगह पर छापा मारा की लेकिन जब तक टीम वहां पहुंची, तब तक आरोपी हलीमा वहां से फरार हो चुकी थी। आयोग की टीम ने बच्चियों को बाल कल्याण समिति के सामने प्रस्तुत किया जिसके बाद समिति ने उन्हें एक शेल्टर होम में भेज दिया। सुश्री मालीवाल ने पुलिस को नोटिस जारी करके आरोपी को तुरंत गिरफ़्तार करने के लिए कहा है।

Next Story