Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महंगे दाम पर ऑक्सीजन बेचने वाले दो भाइयों समेत चार गिरफ्तार

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से कोरोना मरीजों (Covid Patients) के उपचार में काम आने वाले 115 ऑक्सीजन सांद्रक बरामद किए गए हैं। आरोपी इन मेडिकल उपकरणों को 1.10 लाख रुपये की दर से बेच रहे थे। आरोपियों की पहचान जनकपुरी के अनुज जैन और अनिल जैन, पश्चिम सागरपुर के शेखर कुमार तथा वैशाली एक्सटेंशन के केशव चौधरी के रूप में की गयी है।

महंगे दाम पर ऑक्सीजन बेचने वाले दो भाइयों समेत चार गिरफ्तार
X

दो भाइयों समेत चार गिरफ्तार

Delhi Crime दिल्ली में कोरोना से (Corona Virus) भयावह स्थिति पैदा हो चुकी है। राजधानी में ऑक्सीजन (Oxygen) की भारी कमी के बीच पुलिस (Delhi Police) ने महंगे दामों पर ऑक्सीजन बेचने के आरोप में दो सगे भाइयों समेत चार लोगों को गिरफ्तार (Four Arrested) किया है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से कोरोना मरीजों (Covid Patients) के उपचार में काम आने वाले 115 ऑक्सीजन सांद्रक बरामद किए गए हैं। आरोपी इन मेडिकल उपकरणों को 1.10 लाख रुपये की दर से बेच रहे थे। आरोपियों की पहचान जनकपुरी के अनुज जैन और अनिल जैन, पश्चिम सागरपुर के शेखर कुमार तथा वैशाली एक्सटेंशन के केशव चौधरी के रूप में की गयी है।

रेमडेसिविर चुराने के आरोप में दो नर्स गिरफ्तार

पश्चिमी दिल्ली के एक निजी अस्पताल के दो पुरुष नर्सों को कथित तौर पर मृत मरीजों के रेमडेसिविर इंजेक्शन चुराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने सोमवार को बताया कि आरोपियों ने कालाबाजारी के लिये टीके चुराए थे। उन्होंने कहा कि आरोपियों की पहचान हर्ष विहार निवासी डोमाथोती यशवंत (27) और दीपक (28) के तौर पर हुई है। कोरोनावायरस संक्रमण के मामलों में भारी वृद्धि के चलते इस दवा की बेहद मांग है हालांकि विशेषज्ञों ने इसके फायदे सीमित बताए हैं। पुलिस ने कहा कि उसे दो आरोपियों के बारे में एक सूचना मिली जिसमें कहा गया कि यशवंत ज्यादा कीमत पर रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचने के लिये आएगा।

मरीज को ले जाने के बदलने में नौ हजार रुपये मांगने पर एम्बुलेंस चालक गिरफ्तार

कोविड मरीज को ले जाने के ऐवज में नौ हजार रुपये किराया वसूलने के आरोप में एक एम्बुलेंस चालक को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि आरोपी की पहचान संगम विहार निवासी फैजान के रूप में हुई। पुलिस के अनुसार सोनू तिवारी ने रविवार को शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया गया था कि एम्बुलेंस चालक ने बुखार से पीड़ित उनके बड़े भाई को अस्पताल ले जाने के लिए नौ हजार रुपये किराया वसूला। यह किराया गोविंदपुरी से अपोलो अस्पताल जाने के लिए लिया गया जिसकी दूरी मात्र सात किलोमीटर है।

Next Story