Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Crime: पतंजलि और हल्दीराम के नाम से चल रही फर्जी वेबसाइट का भंडाफोड़, पुलिस ने चार आरोपी को किया गिरफ्तार

Delhi Crime: पुलिस (Delhi Police) ने आरोपियों को पकड़ने के लिए दिल्ली, बिहार, हरियाणा और पंजाब में छापेमारी की थी। अधिकारी ने बताया कि पुलिस जांच के दौरान पता चला कि यह गिरोह 16 राज्यों में हुई करीब 126 साइबर धोखाधड़ी से जुड़ा था और इसने अब तक लोगों से करीब एक करोड़ 10 लाख रुपये से अधिक की रकम ठगी है। पुलिस ने इनके पास से 17 बैंक खाते जब्त किए हैं।

Delhi Crime: पतंजलि और हल्दीराम से चल रहे फर्जी वेबसाइट का भंडाफोड़, पुलिस ने चार आरोपी को किया गिरफ्तार
X

पतंजलि और हल्दीराम से चल रहे फर्जी वेबसाइट का भंडाफोड़, पुलिस ने चार आरोपी को किया गिरफ्तार

Delhi Crime दिल्ली में पतंजलि और हल्दीराम (Patanjali and Haldiram) की फर्जी वेबसाइट (Fake Website) चलाकर लोगों को फ्रेंचाइजी व डीलरशिप (Franchisees & Dealerships) दिलाने के नाम पर ठगी करने वालों का भंडाफोड़ (Busted) किया गया है। इस मामले में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार (Four Accused Arrested) किया है। आरोपियों की पहचान विनय विक्रम सिंह (37), विकास मिस्त्री (24), विनोद कुमार (27) और संतोष कुमार (32) के रूप में हुई है। पुलिस (Delhi Police) ने आरोपियों को पकड़ने के लिए दिल्ली, बिहार, हरियाणा और पंजाब में छापेमारी की थी। अधिकारी ने बताया कि पुलिस जांच के दौरान पता चला कि यह गिरोह 16 राज्यों में हुई करीब 126 साइबर धोखाधड़ी से जुड़ा था और इसने अब तक लोगों से करीब एक करोड़ 10 लाख रुपये से अधिक की रकम ठगी है। पुलिस ने इनके पास से 17 बैंक खाते जब्त किए हैं।

जानकारी के मुताबिक, आरोपी अमूल, पतंजलि और हल्दीराम जैसे नामी ब्रांड की फर्जी वेबसाइट के जरिए लोगों से ठगी करते थे। इसका खुलासा तब किया गया जब इस फर्जी वेबसाइट के चक्कर में आकर शिकार एक महिला ने शिकायत दर्ज कराई। पीड़िता ने बताया कि वह हल्दीराम आउटलेट चलाना चाहती थी। इसके लिए जब उसने ऑनलाइन तलाश शुरू की तो वह एक वेबसाइट के संपर्क में आयी जिसे हल्दीराम की साइट होने का दावा किया गया था और इस वेबसाइट ने महिला को फ्रेंचाइजी एवं डीलरशिप की पेशकश की।

इसके बाद दो महीने के दौरान महिला से ग्यारह लाख से रुपये से ज्यादा की रकम ठगी गई। इसके बाद महिला ने पुलिस को शिकायत दी। फिर पुलिस ने जांच शुरू की। पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान पाया गया कि हल्दीराम के नाम से बड़ी संख्या में फर्जी वेबसाइट चल रही हैं और ये सभी वेबसाइट मोटी रकम लेकर हल्दीराम की फ्रेंचाइजी देने का दावा कर रही हैं। उन्होंने कहा कि यह भी सामने आया कि देश में बड़ी संख्या में लोग ऐसी फर्जी वेबसाइट के झांसे में आकर धोखाधड़ी के शिकार बन रहे हैं।

Next Story