Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली में चलती बस में महिला कांस्टेबल से छेड़छाड़, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस

Delhi Crime: पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपी, कांस्टेबल के साथ क्लस्टर बस में चढ़ा और उसके पीछे खड़ा हो गया। इसके बाद उसने गलत तरीके से उसे छुआ। जब कांस्टेबल ने इस पर आपत्ति जतायी तो उसने हेलमेट से उसपर हमला कर दिया। पुलिस ने कहा कि हमले में कांस्टेबल घायल हो गई, जबकि आरोपी बस से उतरकर भाग गया. कांस्टेबल को दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल ले जाया गया।

दिल्ली में चलती बस में महिला कांस्टेबल से छेड़छाड़, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस
X

दिल्ली में चलती बस में महिला कांस्टेबल से छेड़छाड़

दिल्ली के द्वारका (Dwarke) इलाके में युवती से छेड़छाड़ (Molestation) का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि चलती बस (Clusters Bus) में एक व्यक्ति ने 25 वर्षीय महिला पुलिस कांस्टेबल (Women Constable) के साथ कथित रूप से छेड़खानी की। साथ ही साथ उस पर हमला भी कर दिया। इस संबंध में महिला कांस्टेबल ने मामला दर्ज करवाया है। पुलिस (Delhi Police) ने आरोपी की तलाश में जुट गई। जानकारी के मुताबिक, महिला कांस्टेबल पीसीआर इकाई में तैनात ड्यूटी पर जा रही थी।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपी, कांस्टेबल के साथ क्लस्टर बस में चढ़ा और उसके पीछे खड़ा हो गया। इसके बाद उसने गलत तरीके से उसे छुआ। जब कांस्टेबल ने इस पर आपत्ति जतायी तो उसने हेलमेट से उसपर हमला कर दिया। पुलिस ने कहा कि हमले में कांस्टेबल घायल हो गई, जबकि आरोपी बस से उतरकर भाग गया. कांस्टेबल को दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल ले जाया गया। फिलहाल उनकी तबीयत स्थिर है। उन्होंने कहा कि कोई भी महिला कांस्टेबल की मदद के लिये आगे नहीं आया।

यहां तक कि बस चालक और मार्शल ने भी मदद नहीं की। चालक का कहना है कि घटना बस से बाहर हुई थी। द्वारका के पुलिस उपायुक्त संतोष कुमार मीणा ने कहा कि मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपी को पकड़ने के प्रयास जारी है। आपको बता दें कि दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार के तमाम दावों के बावजूद अपराध की घटनाएं रुक नहीं रही हैं। दिल्ली सरकार ने महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध को रोकने के लिए ही बसों में मार्शल तैनात करने का फैसला लिया था। लेकिन दिल्ली पुलिस की कांस्टेबल के साथ छेड़छाड़ की घटना के समय भी मार्शल या ड्राइवर के मदद न करने पर, इस व्यवस्था को लेकर सवाल उठ रहे हैं।

Next Story