Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डांस सिखाने के नाम बच्चे का कराया लिंग परिवर्तन, फिर कई लोगों ने किया गैंगरेप

एक दिन किशोर आरोपियों के चुंगल से निकलकर भागा तो उसने एक शख्स को आप बीती सुनाई। इसके बाद मामला पुलिस तक पहुंचा। महिला आयोग के हस्तक्षेप के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया व अन्य चार आरोपियों की तलाश में जुटी। वहीं पुलिस ने पीड़ित किशोर को उसके माता पिता को सौंप दिया।

डांस सिखाने के नाम बच्चे का कराया लिंग परिवर्तन, फिर कई लोगों ने किया गैंगरेप
X

प्रतीकात्मक तस्वीर। 

अब तक आपने रेप से लेकर गैंगरेप की तमाम खबरें सुनी और देखी होगी, लेकिन दिल्ली के गीता कालोनी में इससे भी भयंकर और दिल दहलाने वाली वारदात सामने आई है। जहां कुछ लोगों ने दरिंदगी की सभी हदों को पार करते हुए एक 13 वर्षीय मासूम को बहला फुसलाकर अपने काबू में कर लिया। इसके बाद आरोपियों ने किशोर का लिंग परिर्वतन कराकर हर दिन उसके साथ गैंगरेप किया। आरोपी 13 वर्षीय किशोर को पूर्ण रूप से लड़की बनाने के लिए हारर्मोंस के इंजेक्शन भी देते थे। एक दिन किशोर आरोपियों के चुंगल से निकलकर भागा तो उसने एक शख्स को आप बीती सुनाई। इसके बाद मामला पुलिस तक पहुंचा। महिला आयोग के हस्तक्षेप के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया व अन्य चार आरोपियों की तलाश में जुटी। वहीं पुलिस ने पीड़ित किशोर को उसके माता पिता को सौंप दिया।

जानकारी के अनुसार, पीड़ित किशोर आरोपी से एक कार्यक्रम में मिला था जिसके बाद बच्चे और आरोपी में दोस्ती हो गई। किशोर को बहला फुसलाकर किसी बहाने अपने साथ ले गया जिसके बाद आरोपियों ने बच्चे को कुछ दिन अच्छे से रखा और उसे पैसे भी देता रहा। फिर कुछ दिनों बाद नशीले पदार्थ खिलाकर उसका जबरदस्ती लिंग परिवर्तन वाला ऑपरेशन करवा दिया गया। पीड़ित शुभम ने दर्दनाक घटना को याद करते हुये कहा कि उसे ऑपरेशन के बाद हारर्मोंस वाले इंजेक्शन भी दिए गये जिससे वो लड़की जैसा दिखे। बच्चे के साथ आरोपी और उसके दोस्त लगातार बलात्कार करते रहे।

बात यहीं खत्म नहीं हुई। आरोपी और उसके दोस्तों ने बच्चे को जिस्मफरोशी के धंधे में ढकेल दिया साथ ही उससे भीख भी मंगवाई। उसे ट्रैफिक सिग्नल पर किन्नर बनाकर घुमाया जाता। शुभम ने बताया कि आरोपी स्वयं भी महिलाओं के कपड़े पहनकर जिस्मफरोशी करते थे और आने वाले ग्राहकों को मार-पीटकर उनके पैसे छीन लेते थे। आरोपी शुभम को डराते थे कि अगर किसी को कुछ बताया तो उसे और उसके परिवार को जान से मार दिया जाएगा। लेकिन किसी तरह उन दरिंदों की चुंगल से भाग निकला। बाद में एक वकील के साथ दिल्ली महिला आयोग पहुंच कर आरोपियों के बारे में अपनी आप बीती बताई।

और पढ़ें
Next Story