Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Covid Vaccination: दिल्ली में जल्द जाएगी Sputnik-V की 67 लाख डोज, CM अरविंद केजरीवाल ने लिखा पत्र

केजरीवाल ने कहा कि हमने 67-67 लाख खुराक कोविशील्ड और कोवैक्सीन की मांगी है और भारत में स्पूतनिक के डीलर डॉक्टर रेड्डी को इतनी संख्या में खुराक के लिए लिखा है। उन्होंने बताया कि अभी डॉ. रेड्डी के जवाब का इंतजार है। केजरीवाल ने कहा कि हमने उनसे (डॉ.रेड्डी) पूछा कि वे कितनी खुराक और कितने समय में उपलब्ध करा सकते हैं।

दिल्ली में जल्द जाएगी Stupnik-V की 67 लाख डोज, CM अरविंद केजरीवाल ने लिखा पत्र
X

दिल्ली में जल्द जाएगी Stupnik-V की 67 लाख डोज

Delhi Covid Vaccination दिल्ली में कोविड-19 टीके (Corona Vaccine) की कमी के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने कहा कि उनकी सरकार ने डॉ. रेड्डी (Dr. Reddy Lab) लैब को रूस में विकसित कोविड-19 टीके स्पूतनिक-वी (Sputnik V) की 67 लाख खुराक की आपूर्ति करने के लिए लिखा है। उल्लेखनीय है कि डॉ. रेड्डी ने शुक्रवार को स्पूतनिक-वी को देश में लांच किया। यह पहला विदेश निर्मित कोविड-19 टीका है जिसका इस्तेमाल देश में किया जा रहा है। केजरीवाल की घोषणा उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) द्वारा पिछले सप्ताह किए गए दावे के बाद आई है। सिसोदिया ने कहा था कि कोवैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक ने राष्ट्रीय राजधानी को अतिरिक्त खुराक देने से मना कर दिया है।

हमने 67-67 लाख खुराक कोविशील्ड और कोवैक्सीन की मांगी है: केजरीवाल

केजरीवाल ने कहा कि हमने 67-67 लाख खुराक कोविशील्ड और कोवैक्सीन की मांगी है और भारत में स्पूतनिक के डीलर डॉक्टर रेड्डी को इतनी संख्या में खुराक के लिए लिखा है। उन्होंने बताया कि अभी डॉ. रेड्डी के जवाब का इंतजार है। केजरीवाल ने कहा कि हमने उनसे (डॉ.रेड्डी) पूछा कि वे कितनी खुराक और कितने समय में उपलब्ध करा सकते हैं। अबतक उनकी तरफ से जवाब नहीं आया है। उन्होंने कहा कि कई देशों का अनुभव दिखाता है कि बड़े पैमाने पर टीकाकरण से कोरोना वायरस के संक्रमण को कम किया जा सकता है। केजरीवाल ने उम्मीद जताई कि टीके की उपलब्धता बढ़ने के साथ देश में टीकाकरण अभियान गति पकड़ेगा।

लॉकडाउन लगाना से मामलों में आई गिरावट

दिल्ली में कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान मामलों में आई गिरावट का मुख्य कारण लॉकडाउन लागू करना है। दिल्ली के मुख्य सरकारी एवं निजी अस्पतालों के चिकित्सकों ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमितों के मामलों में गिरावट आई है, लेकिन नए मामलों की संख्या को पिछले कुछ महीनों की तरह 2,000 की संख्या तक लाने में अब भी लंबी दूरी तय करनी है। राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (आरजीएसएसएच) के चिकित्सा निदेशक बी एल शेरवाल ने कहा कि मुझे लगता है कि दैनिक मामलों के 28,000 से गिरकर 8,500 पहुंचने का सबसे बड़ा कारण लॉकडाउन है, लेकिन अब भी नए मामलों की संख्या बहुत अधिक है और हालात गंभीर हैं। शेरवाल ने टीकाकरण को भी मामलों में आई कमी का कारण बताया है। दिल्ली स्थित फोर्टिस अस्पताल में चिकित्सक डॉ. रिचा सरीन ने भी कहा कि हालात में अपेक्षाकृत सुधार का कारण लॉकडाउन लागू किया जाना है।

Next Story