Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Coronavirus: आश्रय स्थलों और वन स्टॉप सेंटर में महिलाओं को मिलेगी ये सुविधा, WCD ने जारी किया परामर्श

Delhi Coronavirus: डब्ल्यूसीडी ने महिला आश्रय स्थलों और वन स्टॉप सेंटर (ओएससी) को सलाह दी है कि वे वहां रहने वाली महिलाओं को कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान सर्वश्रेष्ठ चिकित्सकीय परामर्श मुहैया कराएं। डब्ल्यूसीडी ने मौजूदा हालात में महिलाओं के सामने आने वाली परेशानियों के संबंध में शहर के आश्रय स्थलों को परामर्श जारी किया।

Delhi Coronavirus: आश्रय स्थलों और वन स्टॉप सेंटर में महिलाओं को मिलेगी ये सुविधा, WCD ने जारी किया परामर्श
X

 आश्रय स्थलों और वन स्टॉप सेंटर में महिलाओं को मिलेगी ये सुविधा

Delhi Coronavirus दिल्ली में कोरोना महामारी (Corona Pandemic) का कहर अब धीरे-धीरे कम होने लगा है, लेकिन केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal) फिर भी कोताही बरतने के मूड में नजर नहीं आ रही है। इसलिए महिला एवं बाल विकास विभाग (WCD) ने एक आदेश जारी किया है। उन्होंने महिला आश्रय स्थलों और वन स्टॉप सेंटर (OSC) को सलाह दी है कि वे वहां रहने वाली महिलाओं को कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान सर्वश्रेष्ठ चिकित्सकीय परामर्श मुहैया कराएं। डब्ल्यूसीडी ने मौजूदा हालात में महिलाओं के सामने आने वाली परेशानियों के संबंध में शहर के आश्रय स्थलों को परामर्श जारी किया।

परामर्श में कहा गया है कि कोविड-19 वैश्विक महामारी संबंधी मौजूदा हालात के मद्देनजर यह वांछनीय है कि सभी आश्रय स्थलों/ओएससी में रहने वाली महिलाओं को योग्य चिकित्सकों से सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा परामर्श उपलब्ध कराया जाए। राष्ट्रीय राजधानी में सरकार द्वारा संचालित तीन और गैर सरकारी संगठनों द्वारा संचालित 13 महिला आश्रय गृह हैं। इसके अलावा दिल्ली के 11 जिलों में 11 सखी (ओएससी) केंद्र संचालित किए जा रहे हैं। ओएससी सेवाओं में परेशान महिलाओं को अस्थायी आश्रय, चिकित्सा सहायता, पुलिस सहायता, कानूनी सहायता और मनो-सामाजिक परामर्श मुहैया कराया जाता है।

कोरोना महामारी को देखते हुए जारी किया गया आदेश

परामर्श में कहा गया है कि कोविड-19 वैश्विक महामारी संबंधी मौजूदा हालात के मद्देनजर यह वांछनीय है कि सभी आश्रय स्थलों/ओएससी में रहने वाली महिलाओं को योग्य चिकित्सकों से सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा परामर्श उपलब्ध कराया जाए। राष्ट्रीय राजधानी में सरकार द्वारा संचालित तीन और गैर सरकारी संगठनों द्वारा संचालित 13 महिला आश्रय गृह हैं। इसके अलावा दिल्ली के 11 जिलों में 11 सखी (ओएससी) केंद्र संचालित किए जा रहे हैं। ओएससी सेवाओं में परेशान महिलाओं को अस्थायी आश्रय, चिकित्सा सहायता, पुलिस सहायता, कानूनी सहायता और मनो-सामाजिक परामर्श मुहैया कराया जाता है।

Next Story