Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली में कोरोना से स्थिति बेहद गंभीर, मामले 10 हजार के पार, CM केजरीवाल ने जताई चिंता

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के 65 प्रतिशत मरीज़ 35 साल से कम उम्र के हैं, फिर कोरोना रूकेगा कैसे? कोरोना का चक्र तब ही टूटेगा जब वैक्सीनेशन होगा। केंद्र सरकार ने बहुत पाबंदियां लगा रखी हैं मेरा केंद्र से निवेदन है कि वो पाबंदियां हटा दें। उधर, दिल्ली पुलिस ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच लोधी गार्डन में लोगों से कोरोना नियमों का पालन करने की अपील कर रही है।

दिल्ली में कोरोना से स्थिति बेहद गंभीर, मामले 10 हजार के पार, CM केजरीवाल ने जताई चिंता
X

दिल्ली में कोरोना से स्थिति बेहद गंभीर

Delhi Coronavirus Update दिल्ली में पिछले 10-15 दिन में कोरोना बहुत तेज़ी से बढ़ा है। दिल्ली में कोरोना की ये चौथी वेव (Corona Fourth Wave) है। दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरेाना वायरस के 10,732 केस (10 Thousand Cases) आए हैं, स्थिति बहुत चिंताजनक है। ​मैं स्थिति पर नजर रखे हुए हूं और जो करने की जरूरत है हम वो सब कर रहे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने कहा कि हम लॉकडाउन (Lockdown) नहीं लगाना चाहते हैं लेकिन कल सरकार ने मजबूरी में कुछ पाबंदियों के आदेश दिए हैं। इस वक़्त का पीक नवंबर से भी खतरनाक है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना के 65 प्रतिशत मरीज़ 35 साल से कम उम्र के हैं, फिर कोरोना रूकेगा कैसे? कोरोना का चक्र तब ही टूटेगा जब वैक्सीनेशन होगा। केंद्र सरकार ने बहुत पाबंदियां लगा रखी हैं मेरा केंद्र से निवेदन है कि वो पाबंदियां हटा दें। उधर, दिल्ली पुलिस ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच लोधी गार्डन में लोगों से कोरोना नियमों का पालन करने की अपील कर रही है। केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए लॉकडाउन कोई समाधान नहीं है, अगर अस्पताल व्यवस्था चरमरा जाती है तभी इसे लागू करना चाहिए।

मैं लोगों से अपील करता हूं कि बहुत जरूरी होने पर ही अपने घरों से बाहर निकलें। इससे पहले, दिल्ली में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि लॉकडाउन कोई विकल्प नहीं है लेकिन राष्ट्रीय राजधानी में कुछ प्रतिबंध लगाए जाएंगे जो कोरोना वायरस महामारी की चौथी लहर की चपेट में है। मुख्यमंत्री ने लोकनायक जयप्रकाश (एलएनजेपी) अस्पताल का दौरा कर महामारी से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में उन्होंने कहा कि लॉकडाउन कोई विकल्प नहीं है, हालांकि, हम वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कुछ प्रतिबंध लगाएंगे। हम आने वाले कुछ दिनों में प्रतिबंध जारी करेंगे।

Next Story