Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Coronavirus: कोरोना की तीसरी लहर को लेकर सत्येंद्र जैन ने जताई चिंता, वैक्सीन खत्म होने पर केंद्र पर साधा निशाना

Delhi Coronavirus: जैन ने कहा कि पिछले 24 घंटे में दिल्ली में केवल 45 कोरोना मरीज मिले। यह संख्या पिछले कई महीनों में कोरोना मरीजों के आंकड़ों में सबसे कम है।पॉजिटिविटी रेट घटकर 0.1 प्रतिशत से भी कम हो गया है। दिल्ली में इस समय 693 सक्रिय मरीज हैं। मैं लोगों से ऐसे समय में सतर्कता बरतने की अपील करता हूं।

Delhi Coronavirus: कोरोना की तीसरी लहर को लेकर सत्येंद्र जैन ने जताई चिंता, बोले- वैक्सीन खत्म होने पर केंद्र पर साधा निशाना
X

कोरोना की तीसरी लहर को लेकर सत्येंद्र जैन ने जताई चिंता

Delhi Coronavirus दिल्ली में कोरोना के मामले कम आ रहे है। इसका मतलब ये नहीं की कोरोना (Coronavirus) का खतरा टल गया है। लेकिन कोरोना से लड़ने और इससे बचने के लिए वैक्सीन (Corona Vaccine) लगाना बेहद जरूरी है। वहीं, दिल्ली में लगातार कोरोना वैक्सीन की किल्लत फिर से होने लगी है। जिससे लेकर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) ने जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि कल लगभग 1.5 लाख कोविशील्ड वैक्सीन (Covishield Vaccine) आई है जो आज तक चलेगी। वैक्सीन की कमी की वजह से वैक्सीनेशन सेंटर बंद हो रहे हैं। जैन ने कहा कि पिछले 24 घंटे में दिल्ली में केवल 45 कोरोना मरीज मिले। यह संख्या पिछले कई महीनों में कोरोना मरीजों के आंकड़ों में सबसे कम है।

दिल्ली में पॉजिटिविट रेट घटकर 0.1 प्रतिशत से भी कम हो गया है। वहीं इस समय 693 सक्रिय मरीज हैं। मैं लोगों से ऐसे समय में सतर्कता बरतने की अपील करता हूं। वैक्सीन की कमी को लेकर केंद्र पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि टीके की उपलब्धता काफी कम है। हमे कल कोविशील्ड के 1.5 लाख डोज दिए गए थे जो बुधवार को समाप्त हो गया। इसके बाद वैक्सीन नहीं मिली तो टीकाकरण सेंटरों को बंद करना पड़ेगा। हमें हरियाणा के मॉडल पर काम नहीं करना।

बार-बार वैक्सीन कम होने से सेंटरों को बंद करना पड़ रहा है। जिसे लोग भी परेशान हो रहे है। इससे पहले, कोरोना वैक्सीन की कमी को लेकर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर केंद्र पर हमला किया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में वैक्सीन फिर खत्म हो गई है। केंद्र सरकार एक दो दिन की वैक्सीन देती है, फिर हमें कई दिन वैक्सीन केंद्र बंद रखने पड़ते हैं। केंद्र सरकार की क्या मजबूरी है। अभी देश में वैक्सीन की किल्लत क्यों हो रही।

Next Story