Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली में कोरोना की आंधी से सब कुछ तबाह! कई अस्पतालों में ऑक्सीजन खत्म और तो किसी में आईसीयू बेड्स कमी

दिल्ली के आस्था अस्पताल में ऑक्सीजन की किल्लत सामने आई है। अस्पताल ने कहा है कि ऑक्सीजन बिल्कुल खत्म होने की कगार पर है। यहां करीब 40 मरीज वेंटिलेटर पर हैं। अस्पताल में 14 मरीज आईसीयू पर, 12 सेमी आईसीयू पर और 30 मरीज ऑक्सीजन पर हैं। मंगलवार सुबह दिल्ली के शांति मुकुंद अस्पताल में बेड्स पूरी तरह भर चुके हैं।

कई अस्पतालों में ऑक्सीजन खत्म
X

प्रतीकात्मक फोटो

Delhi Coronavirus Update दिल्ली में कोरोना की आंधी में सब कुछ बर्बाद होता दिखाई दे रहा है। कई अस्पतालों (Covid Hospitals) में ऑक्सीजन (Oxygen Crisis) खत्म हो चुके है तो कई अस्पतालों में बेड्स (ICU Beds) की किल्लत हो गई है। ऐसे में दिल्ली के कोविड अस्पताल (Covid19) मरीजों की सेवा करने में असहाय हो चुके है। अस्पतालों ने मरीजों का इलाज करने से साफ मना कर दिया है। वहीं, ऑक्सीजन और दवाईयों की कमी के कारण मरीजों को छुट्टी देने लगे है।

आस्था अस्पताल में ऑक्सीजन की किल्लत

दिल्ली के आस्था अस्पताल में ऑक्सीजन की किल्लत सामने आई है। अस्पताल ने कहा है कि ऑक्सीजन बिल्कुल खत्म होने की कगार पर है। यहां करीब 40 मरीज वेंटिलेटर पर हैं। अस्पताल में 14 मरीज आईसीयू पर, 12 सेमी आईसीयू पर और 30 मरीज ऑक्सीजन पर हैं। मंगलवार सुबह दिल्ली के शांति मुकुंद अस्पताल में बेड्स पूरी तरह भर चुके हैं। अस्पताल ने बाहर ही बोर्ड लगा दिया है कि कोई बेड उपलब्ध नहीं हैं। दिल्ली में अभी भी ऑक्सीजन और बेड्स का संकट बना हुआ है। सोमवार की देर रात को दिल्ली में ऑक्सीजन एक्सप्रेस पहुंची, जिसमें ऑक्सीजन के चार कंटेनर्स थे। अब इन्हें दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में भेज दिया जाएगा।

सर गंगाराम अस्पताल में पहुंची दो टन ऑक्सीजन

उधर, दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल को मंगलवार सुबह दो टन तरलीकृत चिकित्सकीय ऑक्सीजन मिली। अस्पताल के एक अधिकारी ने बताया कि पिछले कुछ दिनों की तुलना में अब वे बेहतर स्थिति में है। कुछ दिन पहले अस्पताल में जीवनदायिनी गैस की भारी किल्लत के कारण संकट पैदा हो गया था। अस्पताल ने कहा कि उसके पास 6000 घन मीटर ऑक्सीजन है जो 10 घंटों तक चल सकती है। अधिकारी ने कहा कि हमें 27 अप्रैल को सुबह छह बजे दो टन तरलीकृत चिकित्सकीय ऑक्सीजन मिली। कल हमें 10 टन तरलीकृत चिकित्सकीय ऑक्सीजन से भरा एक टैंकर मिला था। पिछले कुछ दिनों के मुकाबले अब हम बेहतर स्थिति में हैं और हम उम्मीद करते हैं कि हालात बेहतर रहे।

Next Story