Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

होम आइसोलेशन में मरीजों को लेकर CM केजरीवाल ने अधिकारियों को दिए ये निर्देश

केजरीवाल ने अधिकारियों से यह सुनिश्चित करने को कहा कि कोविड-19 के मरीजों को संक्रमण की पुष्टि होने के 24 घंटे के भीतर सरकार द्वारा नियुक्त डॉक्टरों की टीम से कॉल किया जाए। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और शीर्ष अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में केजरीवाल ने कहा कि अस्पताल जाने वाले और घर में ही अपना इलाज करा रहे कोविड-19 के मरीजों का स्पष्ट रिकॉर्ड रखा जाए।

होम आइसोलेशन में मरीजों को लेकर CM केजरीवाल ने अधिकारियों को दिए ये निर्देश
X

CM केजरीवाल

Delhi Coronavirus राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामले (Corona Cases) तेजी से बढ़ रहे है। ऐसे में अस्पतालों (Delhi Hospital) में कोविड-19 मरीजों की बढ़ती संख्या लगातार बढ़ रही है। जिसे देखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे शहर में होम आइसोलेशन (Home Isolation) प्रणाली को और मजबूत बनाएं। उन्होंने अधिकारियों से यह सुनिश्चित करने को कहा कि कोविड-19 के मरीजों को संक्रमण की पुष्टि होने के 24 घंटे के भीतर सरकार द्वारा नियुक्त डॉक्टरों की टीम से कॉल किया जाए। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) और शीर्ष अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में केजरीवाल ने कहा कि अस्पताल जाने वाले और घर में ही अपना इलाज करा रहे कोविड-19 के मरीजों का स्पष्ट रिकॉर्ड रखा जाए।

सरकार की होम आइसोलेशन नीति की सराहना की

मुख्यमंत्री और उनके कैबिनेट सहयोगियों ने कई मौकों पर शहर की आम आदमी पार्टी की सरकार की गृह-पृथकवास नीति की सराहना की है। पिछले साल सितंबर में गृह मंत्री सत्येन्द्र जैन ने कहा था कि जून में संक्रमण के प्रसार पर काबू पाने में इस नीति ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। सरकार अभी भी इस नीति को अपना रही है। सोमवार को समीक्षा बैठक में केजरीवाल ने निर्देश दिया कि गृह-पृथकवास में रह रहे जिन मरीजों के पास ऑक्सी मीटर नहीं है, उन्हें कोविड-19 किट के साथ यह उपकरण भी दिया जाएगा।

20,136 मरीजों का अस्पतालों में चल रहा इलाज

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में रविवार तक कोविड-19 के 50,742 मरीज गृह-पृथकवास में थे जबकि 20,136 मरीजों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है। आप सरकार ने एक बयान में कहा कि मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि गृह-पृथकवास में इलाज करा रहे लोगों को संक्रमण की पुष्टि होने से 24 घंटों के भीतर डॉक्टर का कॉल जाएगा और उनकी काउंसलिंग भी शुरू हो जाएगी। उसने कहा कि मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिया कि कोविड-19 के कितने मरीज अस्पताल जा रहे हैं और कितनों का इलाज घर में हो रहा है, इसका स्पष्ट रिकॉर्ड रखा जाए।

Next Story