Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Coronavirus: दिल्ली में कोरोना की 'तीसरी लहर' की आशंका, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने 'रैपिड रिस्पॉन्स सेंटर' का किया उद्घाटन

Delhi Coronavirus: आज दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में रैपिड रिस्पॉन्स सेंटर फॉर कोविड का उद्घाटन किया। इस दौरान जैन ने कहा कि यहां 30 बेड (ICU Bed) हैं और सभी बेड पर वेंटिलेटर की सुविधा है। इससे यहां आने वाले मरीजों को किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होगी।

Delhi Coronavirus: दिल्ली में कोरोना की
X

दिल्ली में कोरोना की 'तीसरी लहर' की आशंका

Delhi Coronavirus दिल्ली में कोरोना की 'तीसरी लहर' (Third Wave) को लेकर तैयारी की जा रही है। केजरीवाल सरकार ((Delhi Government) संक्रमण को रोकने और मरीजों के लिए अस्पतालों में सुविधाएं बढ़ाने पर जोर दे रही है। इस कड़ी में आज दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Delhi Health Minister Satyendar Jain) ने राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (Rajiv Gandhi Super Specialty Hospital) में रैपिड रिस्पॉन्स सेंटर फॉर कोविड (Rapid Response Center For Covid) का उद्घाटन किया है।

इस दौरान जैन ने कहा कि यहां 30 बेड (ICU Bed) हैं और सभी बेड पर वेंटिलेटर की सुविधा है। इससे यहां आने वाले मरीजों को किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होगी। इस से पहले, जैन ने कहा था कि दिल्ली सरकार तीसरी लहर के लिए पूरी तैयारी कर रही है। इस बार हम 37 हजार बेड का इंतजाम कर रहे हैं। जिसमें 12 हजार आईसीयू बेड होंगे और ऑक्सीजन (Oxygen)की भी पूरी तैयारी की जा रही है। बच्चों के लिए भी अलग से तैयारी की जा रही है।

तीसरी लहर में रोजाना 4 लाख से ज्यादा नए मामले आने का अनुमान

गृह मंत्रालय की रिपोर्ट में कहा गया है कि कई देशों के मुकाबले भारत में टीकाकरण की गति बहुत धीमी है। इसमें चेतावनी दी गई है कि अगर टीकाकरण तेज नहीं किया तो कोरोना वायरस की तीसरी लहर में रोजाना 4 लाख से ज्यादा नए मामले सामने आ सकते हैं। विशेषज्ञ समिति ने चिंता जताई है कि देश में कोविड-19 की तीसरी लहर सितंबर और अक्टूबर के बीच कभी भी आ सकती है। समय रहते टीकाकरण तेज करना होगा। जिससे इस महामारी को रोका जा सके।

पिछले 24 घंटे में कोरोना के 39 नए मामले सामने आए

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 39 नए मामले सामने आए हैं। इस महामारी से किसी मरीज की मौत नहीं हुई। शहर में पॉजिटिविटी रेट 0.06 फीसदी रही। बुलेटिन के मुताबिक, दिल्ली में अब तक इस घातक वायरस के कारण 25,079 मरीजों की मौत हो चुकी है और मृत्यु दर 1.74 फीसदी है। दिल्ली में उपलब्ध 12,057 बिस्तरों में से केवल 264 पर मरीज भर्ती हैं। दिल्ली में कुल 64,810 नमूनों की जांच की गई। बीते दिन 114 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी गई। शहर में अब तक संक्रमण के कुल 14,37,485 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं 14,11,995 लोग ठीक होने में शामिल हैं।

Next Story