Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Coronavirus: कोरोना महामारी के संकट में दिल्ली पुलिस का कमाल, ऐसे बचाई इतने लोगों की जान

Delhi Coronavirus: ग्रीन कॉरिडोर (Green Corridor) बनाकर पश्चिम विहार के बालाजी एक्शन अस्पताल (Balaji Action Hospital) में दो ऑक्सीजन टैंकरों (Oxygen Tankers) को पहुंचाकर वहां भर्ती 235 कोविड-19 (Covid19) मरीजों की जान बचा ली। एक बड़े संकट से अस्पताल (Hospital) और लोगों को बचा लिया है।

Delhi Coronavirus: कोरोना महामारी के संकट में दिल्ली पुलिस का कमाल, ऐसे बचाई इतने लोगों की जान
X

कोरोना महामारी के संकट में दिल्ली पुलिस का कमाल

Delhi Coronavirus दिल्ली में कोरोना से हालात बेहद खतरनाक हो चुके है। ऐसे में एक-एक जिंदगी को बचाना बेहद जरूरी हो गया है। दिल्ली सरकार (Delhi Government) या पुलिस प्रशासन (Delhi Police) दोनों ने मिलकर लोगों को कोरोना संक्रमण (Corona Pandemic) से बचाने के लिए तरह-तरह के उपाय कर रहे है। इसी बीच, कोरोना के बढ़ते मामले के बीच दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने अपनी सुझबूझ का परिचय देते हुए कई लोगों की जान बचाने का काम किया है। ग्रीन कॉरिडोर (Green Corridor) बनाकर पश्चिम विहार के बालाजी एक्शन अस्पताल (Balaji Action Hospital) में दो ऑक्सीजन टैंकरों (Oxygen Tankers) को पहुंचाकर वहां भर्ती 235 कोविड-19 (Covid19) मरीजों की जान बचा ली। एक बड़े संकट से अस्पताल (Hospital) और लोगों को बचा लिया है।

दिल्ली पुलिस ने बचाई 235 लोगों की जान

जानकारी के अनुसार, पश्चिम विहार के बालाजी अस्पताल में चिकित्सा अधीक्षक ने सोमवार रात करीब साढ़े ग्यारह बजे दिल्ली पुलिस को बताया कि उनके अस्पताल में लिक्विड गैस टैंक में ऑक्सीजन काफी कम बची है और 235 कोविड-19 से अधिक रोगियों की जान खतरे में है। अस्पताल ने कहा कि 14 हजार लीटर और 5,500 लीटर ऑक्सीजन लाने वाले दो टैंकर दिल्ली में नाइट कर्फ्यू के कारण नोएडा और फरीदाबाद सीमाओं पर फंस गए थे। इसके बाद पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने कर्फ्यू में फंसे ऑक्सीजन सप्लाई वाले दोनों टैंकरों को बाहर निकालने के लिए तुरंत दो टीमों को दिल्ली-नोएडा बॉर्डर और दिल्ली-फरीदाबाद बॉर्डर पर भेजा।

अस्पताल ने दिल्ली पुलिस का आभार प्रकट किया

अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सुनील समबिल ने दिल्ली पुलिस के प्रति आभार प्रकट किया। उन्होंने बताया कि अस्पताल में ऑक्सीजन का स्तर बहुत ही कम हो चुका था और तरल ऑक्सीजन लेकर आ रहे वाहन यातायात जाम में फंस गए थे। हमने इस बारे में तुरंत ही पुलिस को सूचित किया और उन्होंने अपने दल वहां भेजे। उन्होंने ग्रीन कॉरिडोर बनाया जिसकी बदौलत दोनों वाहन समय पर आ पहुंचे।

Next Story