Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Coronavirus: कोरोना की 'तीसरी लहर' को लेकर AIIMS के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कही ये बड़ी बात

Delhi Coronavirus: एम्स के डायरेक्टर ने कहा कि दूसरी लहर के दौरान रोज औसतन चार लाख से अधिक मामले आ रहे थे। लेकिन तीसरी लहर में ऐसी संभावना नहीं है। क्योंकि दूसरी लहर के दौरान अल्फा और डेल्टा वेरिएंट के मामले ज्यादा थे। गुलेरिया ने तीसरी लहर में बच्चों के अधिक संक्रमित होने की बात को भी खारिज किया।

Delhi Coronavirus: कोरोना की
X

 कोरोना की 'तीसरी लहर' को लेकर AIIMS के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया 

Delhi Coronavirus दिल्ली समेत देशभर में कोरोना की दूसरी लहर में जो तबाही का आलम था वह सबने देखा। लेकिन अब कोरोना की तीसरी लहर (Corona Third Wave) आने की बात कही जा रही है। जिससे लोगों में अभी से भय उत्पन्न हो गया है। क्योंकि नीति आयोग (NITI Ayog) से लेकर गृह मंत्रालय (Home Ministry) की रिपोर्ट में तीसरी लहर के दौरान रोजाना 4 लाख से अधिक मामले आने की बात कही जा रही है। इस बीच, एम्स के डायरेक्टर और कोविड एक्सपर्ट डॉक्टर रणदीप गुलेरिया (AIIMS Director And Covid Expert Dr Randeep Guleria) ने देशवासियों को अच्छी खबर दी है। उन्होंने कहा कि देशभर में चौथे सीरो सर्वे (Fourth Sero Survey) की रिपोर्ट को देखते हुए यह कहा जा सकता है कोरोना तीसरी लहर ज्यादा प्रभावी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि कोरोना की वैक्सीनेशन तेज (Covid Vaccination) होने की वजह से भी तीसरी लहर का असर कम होने की उम्मीद है। उन्होंने ये बाते इंटीग्रेटेड हेल्थ एंड वेल्बीइंगकाउंसिल (Integrated Health and Wellbeing Council) द्वारा आयोजित वेबिनार में कही है।

तीसरी लहर में बच्चों का अधिक संक्रमित होने की बात खारिज की

एम्स के डायरेक्टर ने कहा कि दूसरी लहर के दौरान रोज औसतन चार लाख से अधिक मामले आ रहे थे। लेकिन तीसरी लहर में ऐसी संभावना नहीं है। क्योंकि दूसरी लहर के दौरान अल्फा और डेल्टा वेरिएंट के मामले ज्यादा थे। गुलेरिया ने तीसरी लहर में बच्चों के अधिक संक्रमित होने की बात को भी खारिज किया। उन्होंने कहा कि जैसा बच्चों में अधिक संक्रमण की बात कही जा रही है, ऐसा लग नहीं रहा है। इसकी संभावना बहुत कम है। हालांकि, उन्होंने कहा कि अस्पतालों के पीडियाट्रिक विभागों में बच्चों के लिए भी तैयारियां की गई हैं।

आईसीएमआर ने चौथे सीरो सर्वे रिपोर्ट जारी की

आईसीएमआर ने चौथे सीरो सर्वे रिपोर्ट जारी की है। देश में 50 प्रतिशत से अधिक लोगों में कोरोना के खिलाफ एंटीबॉडी पाई गई थी। गुलेरिया ने कहा कि तीसरी लहर को लेकर भारत सरकार द्वारा सभी अस्पतालों में पीएसए प्लांट और लिक्विड ऑक्सिजन स्टोरेज की व्यवस्था की जा रही है। अस्पतालों में आईसीयू बेड भी बढ़ाए जा रहे हैं। अधिकतर अस्पतालों में डॉक्टर और नर्स को तीसरी लहर से निपटने के लिए ट्रेनिंग दी जा चुकी है। इस दौरान डॉक्टर गुलेरिया ने बूस्टर डोज के मुद्दे पर कहा कि अभी हमारे पास इससे संबंधित डेटा नहीं हैं।

Next Story