Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Coronavirus: दिल्ली में कोरोना को लेकर लोगों के लिए अच्छी खबर, जानें पिछले 24 घंटे के नए आंकड़े

Delhi Coronavirus: नए केस के साथ राजधानी में कुल मामले 14,35,529 हो गए हैं और 25,027 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। दिल्ली में अभी 592 ऐक्टिव केस हैं। पिछले 24 घंटों में दिल्ली में कुल 71,546 कोरोना टेस्ट किए गए हैं, इसके साथ ही अब तक कुल 2,27,96,703 यहां किए जा चुके हैं।

Delhi Coronavirus: दिल्ली में कोरोना को लेकर लोगों के लिए अच्छी खबर, जानें पिछले 24 घंटे के नए आंकड़े
X

दिल्ली में कोरोना को लेकर लोगों के लिए अच्छी खबर

Delhi Coronavirus दिल्ली में कोविड केसों में गिरावट दर्ज की गई है। वहीं संक्रमण से किसी की भी मौत (Corona Death) नहीं हुई है। ये दिल्लीवासियों के लिए अच्छी खबर है। इस बीच, दिल्ली में कोरोना संक्रमण के 51 नए मामले सामने मिले (New Corona Cases) है। इस समय पॉजिटिव रेट (Positive Rate) 0.07 प्रतिशत है। जबकि पिछले 24 घंटों में 80 मरीज ठीक होकर अपने घर चले गए हैं। नए केस के साथ राजधानी में कुल मामले 14,35,529 हो गए हैं और 25,027 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। दिल्ली में अभी 592 ऐक्टिव केस हैं। पिछले 24 घंटों में दिल्ली में कुल 71,546 कोरोना टेस्ट किए गए हैं, इसके साथ ही अब तक कुल 2,27,96,703 यहां किए जा चुके हैं।

वहीं, दिल्ली में कोरोना वैक्सीन का भंडार एक दिन से भी कम समय के लिये था। बुलेटिन में कहा गया है कि राष्ट्रीय राजधानी को शनिवार को कोविशील्ड की 60 हजार खुराक मिली, जिसके बाद खुराक की कुल संख्या बढ़ कर 72,240 हो गई। इसमें कहा गया है कि राजधानी में कोवैक्सीन की 2,05,630 खुराक उपलब्ध है। कोवैक्सीन की केवल 20 फीसदी खुराक ही पहली खुराक के तौर पर इस्तेमाल होगी, चूंकि इसका भंडार सीमित है और इसकी उपलब्धता अनियमित है। आंकड़ों के अनुसार, अभी तक दिल्ली में 93,55,271 खुराक दी गयी है, जिसमें 22,15,357 दूसरी खुराक भी शामिल है।

एमसीडी ने तीसरी लहर से निपटने की तैयारी तेज की

दिल्ली के तीनों नगर निगमों ने कोविड-19 महामारी की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारियां तेज कर दी हैं, जिनमें स्वास्थ्य सेवाओं को सृदृढ़ करने से लेकर टीकाकरण व कोविड-19 अनुकूल व्यवहार के लिए बड़े पैमाने पर अभियान की योजना तक शामिल है। तीनों निगमों के अधिकारियों ने बताया कि पहली और दूसरी लहर के दौरान अस्पताल से लेकर श्मशान तक की व्यवस्था नाकाफी साबित हुई और अब कोशिश की जा रही है कि तीसरी संभावित लहर के दौरान वैसी स्थिति नहीं दोहराई जाए। इसके लिए पूरी तैयारी की जा रही है।

Next Story