Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Coronavirus: दिल्ली में कोरोना के 45 नये मामले आए सामने, तीन मरीजों की हुई मौत

Delhi Coronavirus: नए आंकड़ों के अनुसार दिल्ली में पिछले साल 15 अप्रैल को संक्रमण के 17 मामले सामने आए थे। इस नए मामलों के साथ ही संक्रमितों की संख्या 14,35,128 होआ चुकी हैं। इनमें से 14.09 लाख लोग अब तक संक्रमण के उबर चुके हैं।

Delhi Coronavirus: दिल्ली में कोरोना के 51 नए मामले सामने आए, किसी मरीज की मौत नहीं
X

दिल्ली में कोरोना के 51 नए मामले सामने आए, किसी मरीज की मौत नहीं

Delhi Coronavirus दिल्ली में कोरोना के मामलों में बेहद गिरावट दर्ज की गई है। ये गिरावट एक साल से ज्यादा समय बाद सबसे कम आए है। इस बीच, दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 45 नए मामले सामने आए (Corona New Cases) है। इस संक्रमण से एक दिन में तीन मरीजों की मौत (Delhi Corona Death) हो गई। वहीं, इस समय दिल्ली में पॉजिटिव रेट (Positive Rate) 0.08 प्रतिशत रही। नए आंकड़ों के अनुसार दिल्ली में पिछले साल 15 अप्रैल को संक्रमण के 17 मामले सामने आए थे। इस नए मामलों के साथ ही संक्रमितों की संख्या 14,35,128 होआ चुकी हैं। इनमें से 14.09 लाख लोग अब तक संक्रमण के उबर चुके हैं।

25,018 मरीजों की मौत हो चुकी है। बुलेटिन के अनुसार दिल्ली में उपचाराधीन रोगियों की कुल संख्या 693 है। बीते दिन 43,661 आरटी-पीसीआर समेत कुल 55,019 जांचे की गईं। उधर, दूसरी और कोरेाना से बचाव के लिए वैक्सीन की भी दिल्ली में कमी हो चुकी है। यहां कोविशील्ड टीके का भंडार खत्म हो गया है, जिससे कुछ कोविड टीकाकरण सेंटर आज को बंद हो जाएंगे है। एक बुलेटिन के अनुसार, दिल्ली में सोमवार सुबह कोविशील्ड की 19,000 खुराक और कोवैक्सिन की 2,39,000 खुराकें थीं।

बुलेटिन में कहा गया है कि सोमवार को कुल 36,238 टीके की खुराक दी गई, जिससे दिल्ली में अब तक दी गई खुराकों की कुल संख्या 89,37,904 हो गई है। शहर में कोविड के टीकों की कमी का मुद्दा उठाते हुए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया कि दिल्ली में वैक्सीन फिर ख़त्म हो गई है। केंद्र सरकार एक दो दिन की वैक्सीन देती है, फिर हमें कई दिन वैक्सीन केंद्र बंद रखने पड़ते हैं। केंद्र सरकार की क्या मजबूरी है। अभी देश में वैक्सीन की किल्लत क्यों हो रही। आपको बता दें कि प्रशासन ने सोमवार को बाजार संगठनों के के साथ बैठक के बाद जनपथ बाजार को बंद करने का अपना आदेश वापस ले लिया और व्यापारियों ने कोरोना गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करने का आश्वासन दिया।

Next Story