Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Coronavirus: दिल्ली में कोरोना के 337 नए मामले सामने आए, 36 मरीजों की मौत

Delhi Coronavirus: संक्रमण के नए मामलों और संक्रमण की दर में मंगलवार के आंकड़ों के मुकाबले थोड़ी वृद्धि देखी गई है। मंगलवार को जारी स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में 316 मामले सामने आए थे और संक्रमण की दर 0.44 प्रतिशत थी।

Delhi Coronavirus: दिल्ली में कोरोना के 337 नए मामले सामने आए, 36 मरीजों की मौत
X

दिल्ली में कोरोना के 337 नए मामले सामने आए

Delhi Coronavirus दिल्ली में कोरोना के मामले एक बार फिर से बढ़ने लगे है। पॉजिटिव रेट (Positive Rate) फिलहाल स्थिर है। वहीं (Corona Deaths) मौतों की संख्या में कमी देखी जा रही है। इस बीच, दिल्ली में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 337 नए मामले सामने आए (New Cases Of Corona) और 36 रोगियों की मौत हो गई जबकि संक्रमण दर 0.46 प्रतिशत रही। बुधवार को एक स्वास्थ्य बुलेटिन में यह जानकारी दी गई है। संक्रमण के नए मामलों और संक्रमण की दर में मंगलवार के आंकड़ों के मुकाबले थोड़ी वृद्धि देखी गई है। मंगलवार को जारी स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में 316 मामले सामने आए थे और संक्रमण की दर 0.44 प्रतिशत थी।

इसके अलावा 41 रोगियों की मौत हुई थी। ताजा बुलेटिन के अनुसार दिल्ली में एक दिन में 36 और रोगियों की मौत के बाद मृतकों की कुल संख्या 24,704 हो गई जबकि मृत्युदर 1.73 प्रतिशत रही। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राष्ट्रीय राजधानी में 'जहां वोट, वहां वैक्सीन' अभियान की शुरुआत के एक दिन बाद बुधवार को एक टीकाकरण केंद्र का मुआयना किया। इस अभियान का लक्ष्य 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को अपने विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र पर जाकर टीके की खुराक लेने के लिए प्रेरित करना है। केजरीवाल ने एक ट्वीट में कहा कि जहां वोट, वहां वैक्सीन अभियान के तहत शुरू हुए एक केंद्र का आज दौरा किया।

वहां लोग इस बात को लेकर बेहद खुश नजर आए कि उनके घर के पास ही जहां वे मतदान करने आए थे, वहीं अब टीके की खुराक भी दी जा रही है। ऑनलाइन बुकिंग का भी झंझट नहीं, बूथ अधिकारी लोगों के घर जाकर समय दे कर आ रहे हैं। इस अभियान की शुरुआत बल्लीमारान विधानसभा क्षेत्र से मंगलवार को हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि ज्यादा से ज्यादा लोग टीकाकरण के लिए केंद्र पर पहुंचे इसके लिए जरूरत पड़ी तो बूथ स्तर के अधिकारी दोबारा उन लोगों के घर जाएंगे जो समय मिलने के बाद टीका लगवाने नहीं आए। उन्होंने बताया कि यह प्रक्रिया 70 वार्ड में बुधवार को शुरू की गई और चार सप्ताह के भीतर दिल्ली में 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों का टीकाकरण हो जाएगा।

Next Story