Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Coronavirus: दिल्ली में कोरोना से जंग की तैयारी, 14 प्राइवेट अस्पताल कोविड-19 हॉस्पिटल घोषित

Delhi Coronavirus: स्वास्थ्य सेवाएं महानिदेशालय की ओर से जारी आदेश के मुताबिक साथ ही, 19 निजी अस्पतालों को कम से कम से अपने 80 प्रतिशत आईसीयू बिस्तरों को कोराना वायरस संबंधी उपचार के लिए आरक्षित करने का निर्देश दिया गया है। इस आदेश के अनुसार 82 निजी अस्पतालों को कम से कम अपने 60 प्रतिशत आईसीयू बिस्तरोंको कोविड-19 मरीजों की खातिर आरक्षित करने को कहा गया है।

दिल्ली में बेकाबू कोरोना की रफ्तार से हालात बिगड़े, अब बचे इतने ICU बेड्स, बढ़ी लोगों की टेंशन
X

दिल्ली में बेकाबू कोरोना की रफ्तार से हालात बिगड़े

Delhi Coronavirus दिल्ली में कोरोना से हर पल हालात खराब हो रहे है। रोजाना हजारों की संख्या में मामले सामने आ रहे है। जिसके कारण कई अस्पतालों में बेडों (Corona Hospital) की संख्या खत्म हो गई है। जिसको लेकर दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने कोरोना से जंग की तैयारी शुरू कर दी है। इस फैसले के मुताबिक, शहर में 14 निजी अस्पतालों (Private Hospital) को पूर्ण कोविड-19 अस्पताल घोषित कर दिया और उन्हें अगले आदेश तक गैर कोविड-19 मरीजों की भर्ती नहीं करने का निर्देश दिया।

स्वास्थ्य सेवाएं महानिदेशालय ने जारी किया आदेश

स्वास्थ्य सेवाएं महानिदेशालय की ओर से जारी आदेश के मुताबिक साथ ही, 19 निजी अस्पतालों को कम से कम से अपने 80 प्रतिशत आईसीयू बिस्तरों को कोराना वायरस संबंधी उपचार के लिए आरक्षित करने का निर्देश दिया गया है। इस आदेश के अनुसार 82 निजी अस्पतालों को कम से कम अपने 60 प्रतिशत आईसीयू बिस्तरोंको कोविड-19 मरीजों की खातिर आरक्षित करने को कहा गया है। आदेश में कहा गया है कि इसके अलावा, 101 निजी अस्पतालों को अपने वार्ड के कम से कम 60 प्रतिशत आईसीयू बिस्तरों को कोविड-19 संबंधी उपचार के लिए आरक्षित करने का निर्देश दिया गया है।

बैंक्वेट हॉल को कोविड देखभाल केंद्र में तब्दील किया गया

कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी और अस्पतालों में बिस्तर की कमी को देखते हुए दिल्ली सरकार ने बैंक्वेट हॉल जैसे वैकल्पिक स्थानों पर कोरोना वायरस रोगियों के लिए सुविधाएं देनी शुरू की हैं। अधिकारियों ने बताया कि मध्य जिला के जिलाधिकारी ने दरियागंज में लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल के सामने शहनाई बैंक्वेट हॉल को कोविड देखभाल केंद्र में तब्दील करने का आग्रह किया था, जिसके बाद वहां 120 बस्तरों वाला कोविड-19 देखभाल केंद्र शुरू किया गया है और फिलहाल यहां करीब 23 रोगी भर्ती हैं। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि जरूरत के मुताबिक विभिन्न स्थानों पर अस्थायी कोविड-19 देखाभल केंद्र बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली में पर्याप्त संख्या में बिस्तर मौजूद हैं और खाली हैं।

Next Story