Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Coronavirus: दिल्ली में चार महीने बाद आए सबसे कम मामले, जानें पिछले 24 घंटे के राहत देने वाले आंकड़े

Delhi Coronavirus: बुलेटिन के अनुसार फिलहाल महानगर में कोविड-19 के 3226 मरीज उपचाराधीन हैं जिनमें 960 घरों में ही पृथकवास में हैं। अबतक यहां 14,31,270 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ गये जिनमें से 24,839 की जान चली गयी। शहर में 14.03 लाख से अधिक मरीज संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। रविवार को यहां 59,556 नमूनों की कोविड-19 जांच की गयी थी।

Delhi Coronavirus: दिल्ली में चार महीने बाद आए सबसे कम मामले, जानें पिछले 24 घंटे के राहत देने वाले आंकड़े
X

 दिल्ली में चार महीने बाद आए सबसे कम मामले

Delhi Coronavirus दिल्ली में कोरोना के (Corona Cases) मामले और ज्यादा कम होते जा रहे है। यहां 22 फरवरी के बाद से पिछले 24 घंटे में कोरोना के सबसे कम 131 नये मामले सामने आये तथा 16 मरीजों की मौत (Delhi Corona Deaths) हुई। यहां संक्रमण दर घटकर (Positive Rate) 0.22 फीसद रह गयी है। बुलेटिन के अनुसार फिलहाल महानगर में कोविड-19 के 3226 मरीज उपचाराधीन हैं जिनमें 960 घरों में ही पृथकवास में हैं। अबतक यहां 14,31,270 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ गये जिनमें से 24,839 की जान चली गयी। शहर में 14.03 लाख से अधिक मरीज संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। रविवार को यहां 59,556 नमूनों की कोविड-19 जांच की गयी थी।

दिल्ली देश में आयी कोरोना वायरस की दूसरी लहर की चपेट में थी और इस लहर के दौरान बड़ी संख्या में रोजाना मामले सामने आये और बड़ी संख्या में लोगों ने जान भी गंवायी। यहां 20 अप्रैल को 28,395 मामले सामने आये थे जो महामारी के फैलने के बाद से अबतक का सर्वाधिक रोजाना आंकड़ा है। शहर में 22 अप्रैल को संक्रमण दर सर्वाधिक 36.2 फीसद थी। तीन मई यहां सबसे अधिक 448 कोविड-19 मरीजों की जान चली गयी। पिछले कई दिनों से रोजाना मामले एवं संक्रमण दर घट रही है। पिछले दो सप्ताह से एक फीसद से भी कम संक्रमण दर है। ऐसे में रविवार को दिल्ली सरकार ने सोमवार से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ रेस्तरां खोलने और हर जोन में केवल एक साप्ताहिक बाजार खोलने की अनुमति दी थी।

एमसीडी के नौ कर्मचारियों की कोविड-19 से मौत : महापौर

पूर्वी दिल्ली नगर निगम (ईडीएमसी) के नौ कर्मचारियों की अब तक कोविड-19 के कारण मौत हो चुकी है, जिनमें से छह कर्मचारियों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये की अनुग्रह राशि प्रदान की गयी है। ईडीएमसी के महापौर निर्मल जैन ने सोमवार को यह जानकारी दी। महापौर के रूप में अपना एक साल का कार्यकाल पूरा होने के अवसर पर संवाददाता सम्मेलन को संबोधित जैन ने समर्थन के लिए लोगों का धन्यवाद जताते हुए कहा कि हमने कोविड-19 के मामलों को नियंत्रित करने के लिए कड़ी मेहनत और लगन से काम किया है। यह बेहद दुर्भाग्य की बात है कि इस महामारी के कारण ईडीएमसी के नौ कर्मचारियों की जान चली गई।

Next Story