Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली में चिकनगुनिया और डेंगू का प्रकोप बढ़ा, यमुनापार में मिला पहला मामला, MCD ने कही ये बात

पूर्वी दिल्ली नगर निगम के महापौर ने बताया कि चिकनगुनिया और डेंगू के मच्छरों को कूलरों और जमे पानी में पनपने से रोकने के लिए कई तरह के कदम उठाए गए हैं। इसके लिए लोगों के घरों में जाकर दवाई दी जा रही है। इस बीमारी से बचाने के लिए लोगों को ज्यादा से ज्यादा जागरूक किया जा रहा है।

दिल्ली में चिकनगुनिया और डेंगू का प्रकोप बढ़ा, यमुनापार में मिला पहला मामला, MCD ने कही ये बात
X

दिल्ली में बरसात (Delhi Rain) के दिनों में डेंगू और चिकनगुनिया (Chikungunya And Dengue) के मामले आने शुरू हो गए हैं। मानसून (Monsoon) की पहली बारिश के साथ ही चिकनगुनिया का आगमन हो गया है। यमुनापार (Yamunapar) के ब्रजपुरी कालोनी में चिकनगुनिया का पहला मामला सामने आया है। यहां एक 16 साल से कम उम्र की लड़की में चिकनगुनिया के लक्षण पाए गए है। जिसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस बारे में पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने जानकारी दी है।

पूर्वी दिल्ली नगर निगम के महापौर ने बताया कि चिकनगुनिया और डेंगू के मच्छरों को कूलरों और जमे पानी में पनपने से रोकने के लिए कई तरह के कदम उठाए गए है। इसके लिए लोगों के घरों में जाकर दवाई दी जा रही है। इस बीमारी से बचाने के लिए लोगों को ज्यादा से ज्यादा जागरूक किया जा रहा है। इसके लिए पर्चे बांटे जा रहे हैं साथ ही साथ घरों में जा जा कर लोगों को इसे बचने के उपाय बताएं जा रहे है। वहीं, इससे पहले दिल्ली में डेंगू के चार केस मिलने से हड़कंप मच गया था। जबकि इन बीमारियों का ज्यादा फैलाव यमुनापार ही देखा जा सकता है।

इस बार मानसून की पहली बारिश में ही चिकनगुनिया का केस आना चिंता बढ़ाने वाली बात है। इस बार पहले ही चिकनगुनिया ने लोगों को अपने सांये में लेना शुरू कर दिया है। लोगों ने कहा कि एमसीडी समय से दवा का छिड़काव नहीं कर रहा, जिसकी वजह से यह बीमारी फैल रही है। पिछले तीन सालों में इसके मामले बरसात के बाद ही सामने आए थे। अधिकारियों का कहना है कि लोगों की लापरवाही के कारण ऐसे बीमारियों का प्रसार बढ़ रहा है। लोग कूलर का पानी समय से नहीं बदलते। इसके अलावा छतों पर टायर, बर्तन और अन्य पात्रों में भरे पानी को साफ नहीं करते, जिसकी वजह से दिक्कत हो रही है।

Next Story