Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Black Fungus: राघव चड्ढ़ा ने दवाई और वैक्सीन की कमी को लेकर जताई नाराजगी, केंद्र से की ये अपील

Delhi Black Fungus: राघव चड्ढ़ा ने कहा कि देशभर में ब्लैक फंगस के दवा की कमी है। दिल्ली के अस्पतालों में भी इंजेक्शन की बहुत कमी है। केंद्र सरकार से निवेदन है कि इसका उत्पादन बढ़ाए। दिल्ली को जल्द से जल्द स्टॉक उपलब्ध कराया जाए ताकि लोगों की जान बचाई जा सके। भारत सरकार के पास वैक्सीन को लेकर कोई नीति नहीं है। केंद्र सरकार वैक्सीन के उत्पादन और वितरण पर नियंत्रण कर रही है। उसने दिल्ली का कोटा रोक दिया है।

Delhi Black Fungus: राघव चड्ढ़ा ने दवाई और वैक्सीन की कमी को लेकर केंद्र से की ये अपील
X

राघव चड्ढ़ा 

Delhi Black Fungus दिल्ली में कोरोना (Coronavirus) के मामले कम हो रहे है। लेकिन ब्लैक फंगस के केस बढ़ रहे है। वहीं इस संक्रमण से जंग में भी अस्पतालों (Delhi Hospitals) में सुविधाओं की कमी होने लगी है। इस कारण आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक राघव चड्ढा (Raghav Chadha) ने केंद्र के खिलाफ नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि देशभर में ब्लैक फंगस के दवा की कमी है। दिल्ली के अस्पतालों में भी इंजेक्शन की बहुत कमी है। केंद्र सरकार से निवेदन है कि इसका उत्पादन बढ़ाए। दिल्ली को जल्द से जल्द स्टॉक उपलब्ध कराया जाए ताकि लोगों की जान बचाई जा सके।

भारत सरकार के पास वैक्सीन को लेकर कोई नीति नहीं है। केंद्र सरकार वैक्सीन के उत्पादन और वितरण पर नियंत्रण कर रही है। उसने दिल्ली का कोटा रोक दिया है। इसी की वजह से आज दिल्ली में वैक्सीन खत्म हो गई। उधर, दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने कोविड-19 की दवाएं बेचने वाले अधिकृत डीलरों और दवा दुकानदारों को निर्देश दिया कि वे अपनी दुकानों में दवा के उपलब्ध स्टॉक और उसका मूल्य स्पष्ट रूप से प्रदर्शित करें।

डीडीएमए ने एक आदेश में कहा कि यह देखा गया है कि कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को समय और तय मूल्य पर कोविड-19 की दवाएं खरीदने में दिक्कत हो रही है, जिससे समय पर और प्रभावी इलाज में बाधा पहुंच रही है। आदेश के अनुसार, ये दवाएं हैं आइवरमेक्टिन टैबलेट, डॉक्सीसाइक्लिन टैबलेट/कैप्सूल, मिथाइल प्रेडनिसोलोन टैबलेट और इंजेक्शन, डेक्सामेथासोन टैबलेट और इंजेक्शन, बुडोसेनाइड इंहेर्ल्स और रेस्पूल्स, फेवीपिरावीर टैबलेट, एपीक्साबेन टैबलेट और एनोक्सापारीन सोडियम/क्लेक्सेन। आदेश के अनुसार, इन दवाओं की उपलब्धता और मूल्य के संबंध में सही और विश्वसनीय जानकारी लोगों को उपलब्ध कराना आवश्यक है।

Next Story