Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ब्लैक फंगस में इस्तेमाल होने वाले एम्फोटेरिसीन-बी टीके के नकली उत्पादन पर बड़ी कार्रवाई, 2 डॉक्टर समेत 10 गिरफ्तार

दिल्ली क्राइम ब्रांच की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने कहा किएंफोटरइसिन-बी इंजेक्शन की ब्लैक मार्केटिंग की सूचना मिली। हमने छापेमारी में एक व्यक्ति को गिरफ़्तारी की गई, उससे पूछताछ के बाद पता चला कि मेडिकल स्टोर में शिवम भाटिया नामक एक व्यक्ति द्वारा सप्लाई की जा रही है। शिवम भाटिया ने हमें 2 लोगों के नाम बताए। उन लोगों को हमने गिरफ़्तार किए। पूरे मामले में किंगपिन डॉ. अल्तमश हुसैन को भी हमारी टीम ने गिरफ़्तार किया गया। इस मामले में अब तक कुल 10 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है।

ब्लैक फंगस में इस्तेमाल होने वाले एम्फोटेरिसीन-बी टीके के नकली उत्पादन पर बड़ी कार्रवाई, 2 डॉक्टर समेत 10 गिरफ्तार
X

ब्लैक फंगस में इस्तेमाल होने वाले एम्फोटेरिसीन-बी टीके के नकली उत्पादन पर बड़ी कार्रवाई

Delhi Black Fungus दिल्ली में ब्लैक फंगस में इस्तेमाल होने वाले एम्फोटेरिसीन-बी इंजेक्शन (Amphotericin-B Vaccine) के नकली उत्पादन करने वालों के बड़ी कार्रवाई की गई है। इस मामले में अब तक दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने 2 डॉक्टरों समेत 10 लोगों को गिरफ्तार (Ten People Arrested) किया है। आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। दिल्ली क्राइम ब्रांच की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने कहा किएंफोटरइसिन-बी इंजेक्शन की ब्लैक मार्केटिंग की सूचना मिली।

हमने छापेमारी में एक व्यक्ति को गिरफ़्तारी की गई, उससे पूछताछ के बाद पता चला कि मेडिकल स्टोर में शिवम भाटिया नामक एक व्यक्ति द्वारा सप्लाई की जा रही है। शिवम भाटिया ने हमें 2 लोगों के नाम बताए। उन लोगों को हमने गिरफ़्तार किए। पूरे मामले में किंगपिन डॉ. अल्तमश हुसैन को भी हमारी टीम ने गिरफ़्तार किया गया। इस मामले में अब तक कुल 10 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है।

वहीं एक दूसरे मामले में सरिता विहार इलाके में पुलिस अधिकारी बन कर मोबाइल फोन चुराने के आरोप में 40 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने रविवार को बताया कि घटना 15 जून की है जब एक सफाईकर्मी अपनी साइकिल पर सरिता विहार के ए ब्लॉक पार्क के पास पहुंचा तो पुलिस अधिकारी का रूप धारण किए आरोपी कमलेश ने उसे रोक लिया। उसने सड़क पर गलत दिशा में साइकिल चलाने के लिए सफाईकर्मी को डांटा। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कमलेश ने उसकी प्रमाणिता का सत्यापन करने के वास्ते ओटीपी की जांच करने के लिए उसका फोन ले लिया और इसके बाद वह फोन लेकर मौके से भाग गया।

Next Story