Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोवीशील्ड और कोवैक्सीन की मिक्स डोज पर बोले सायरस पूनावाला- वैक्सीन का कॉकटेल सही नहीं, ICMR ने कही थी चौंकाने वाली बात

कोवीशील्ड बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के चेयरमैन सायरस पूनावाला ने वैक्सीन कॉकटेल को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि कोवीशील्ड और कोवैक्सीन के मिश्रण के खिलाफ हूं। इसकी कोई जरूरत नहीं है। इसके नतीजे घातक साबित हो सकते है। वहीं, इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की स्टडी में कोवीशील्ड और कोवैक्सिन की मिक्स डोज की रिपोर्ट अच्छी आई हैं।

कोवीशील्ड और कोवैक्सीन की मिक्स डोज पर बोले सायरस पूनावाला- वैक्सीन का कॉकटेल सही नहीं, ICMR कही थी ये बात
X

कोवीशील्ड और कोवैक्सीन की मिक्स डोज पर बोले सायरस पूनावाला

देश में कोवीशील्ड और कोवैक्सीन (Covishield And Covaxin) के मिक्स डोज पर विवाद बढ़ता जा रहा है। एक पक्ष का कहना है कि इनके मिक्स डोज (Mixed Dose) से परिणाम गलत साबित होंगे तो वहीं दूसरे पक्ष का कहना है कि दोनों के मिक्स डोज की रिपोर्ट में अच्छे नतीजे मिले है। फिलहाल वैक्सीन के कॉकटेल (Cocktail) पर मतभेद जारी है। उधर, कोवीशील्ड बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के चेयरमैन सायरस पूनावाला ने वैक्सीन कॉकटेल को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि कोवीशील्ड और कोवैक्सीन के मिश्रण के खिलाफ हूं। इसकी कोई जरूरत नहीं है। इसके नतीजे घातक साबित हो सकते है। वहीं, इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की स्टडी में कोवीशील्ड और कोवैक्सिन की मिक्स डोज की रिपोर्ट अच्छी आई हैं।

दोनों वैक्सीन के मिश्रण पर उठ रहे सवाल

पूनावाला ने कहा कि अगर मिक्स डोज लगाए जाते हैं और परिणाम अच्छा नहीं होता है, तो हम कहेंगे कि एक और वैक्सीन अच्छी नहीं थी। ठीक इसके विपरीत दूसरी कंपनी कह सकती है कि चूंकि आपने सीरम के टीके को मिलाया है, इसलिए परिणाम अच्छे नहीं मिले। उन्होंने आगे बताया कि वैक्सीन कॉकटेल के ट्रायल में हजारों लोगों को शामिल किया गया था, जिसमें इसकी एफिकेसी अच्छी नहीं रही। वहीं इसके उलट ICMR की स्टडी में अच्छे नतीजे मिले है। स्टडी में कहा गया कि कोवैक्सिन और कोवीशील्ड की मिक्स डोज से कोरोना वायरस के खिलाफ बेहतर सुरक्षा मिलती है।

देश में अब तक 53 करोड़ लोगों को लगी वैक्सीन

देश में 53 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी। रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार को टीके की 55,91,675 खुराक दी गई। मंत्रालय ने कहा कि 18-44 आयु वर्ग में 30,31,275 लोगों को पहली खुराक और 4,92,283 को दूसरी डोज दी गई। कुल मिलाकर, सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 18-44 वर्ष की श्रेणी में 19,12,12,891 लोगों ने अपनी पहली खुराक प्राप्त की है और 1,44,57,719 लोगों ने टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण की शुरुआत के बाद से अपनी दूसरी खुराक प्राप्त की है। मंत्रालय ने कहा कि पांच राज्यों मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश ने 18-44 आयु वर्ग में कोविड-19 टीके की एक करोड़ से अधिक खुराक दी गई है।

Next Story