Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली में होम आइसोलेशन के आज बदल सकते हैं नियम, दिल्ली सरकार की ये है योजना

दिल्ली में कोरोना मौत के आंकड़ों को और कम करने के लिए केंद्र होम आइसोलेशन के नियमों में फिर बदलाव करने की तैयारी में है। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली में कोरोना हो रही मौत का एक बड़ा कारण शरीर में ऑक्सीजन की कमी है। मरने वालों में होम आइसोलेशन में रहने वाले लोग भी शामिल है।

दिल्ली में होम आइसोलेशन के आज बदल सकते हैं नियम, दिल्ली सरकार की ये है योजना
X
सीएम केजरीवाल

दिल्ली में कोरोना मौत के आंकड़ों को और कम करने के लिए केंद्र होम आइसोलेशन के नियमों में फिर बदलाव करने की तैयारी में है। सूत्रों के मुताबिक दिल्ली में कोरोना हो रही मौत का एक बड़ा कारण शरीर में ऑक्सीजन की कमी है। मरने वालों में होम आइसोलेशन में रहने वाले लोग भी शामिल है।

अचानक से उनका ऑक्सीजन स्तर नीचे गिरता है, जब तक अस्पताल पहुंचते हैं उनकी हालत गंभीर हो जाती है। इसके चलते केंद्र ने विशेषज्ञों से बैठक के बाद यह बदलाव प्रस्तावित किया है। केंद्र की ओर से सोमवार को इस पर दिल्ली सरकार के साथ बैठक होगी, जिसमें आइसोलेशन के नियमों में बदलाव की रूपरेखा तय की जाएगी।

दिल्ली में होम आइसोलेशन में न्यूनतम आक्सीजन का स्तर तय नहीं

यह कोरोना संक्रमित मरीज का ऑक्सीजन स्तर एक बार न्यूनतम मात्रा से नीचे जाता है तो उसे कोविड केयर सेंटर भेजा जाएगा। इसे लेकर सोमवार को दिल्ली सरकार के साथ बैठक के बाद इस पर आखिरी फैसला होगा। दिल्ली में होम आइसोलेशन गाइडलाइन में अभी न्यूनतम ऑक्सीजन स्तर कितना होना चाहिए वह तय नहीं किया गया है। डॉक्टर कहते हैं कि शरीर में कम से कम 95-100 फ़ीसदी ऑक्सीजन होना चाहिए, इससे कम आने पर ऑक्सीजन की जरूरत पड़ सकती है।

नई नियमों में ऑक्सीजन का स्तर गिरा तो जाना होगा कोविड सेंटर

सूत्रों की माने तो केंद्र की नई गाइडलाइन के मुताबिक अगर ऑक्सीजन का स्तर 95 फ़ीसदी से नीचे जाता है और उसका तापमान लगातार 100 से ऊपर है तो उसे कोविड केयर सेंटर जाना होगा। सरकार मानती है कि ऑक्सीजन लेवल अचानक गिरने से दिक्कत आती हैं, इसलिए होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को ऑक्सीमीटर देने के साथ जरूरत पड़ने पर ऑक्सीजन सिलेंडर भी मुहैया कराया जाता है।

Next Story
Top