Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना से जंग में दिल्ली सरकार ने रेलवे से मांगी मदद, इन स्टेशनों पर 5 हजार बेड्स की दी जाए व्यवस्था

दिल्ली के मुख्य सचिव विजय कुमार देव ने रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा को लिखे एक पत्र में कहा कि पिछले कुछ दिनों में दिल्ली में कोविड-19 के मामलों में जबरदस्त वृद्धि हुई है, जिसके चलते काफी संख्या में गंभीर मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कर इलाज करने की जरूरत पैदा हुई है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में मौजूद सरकारी और निजी अस्पताल भरते जा रहे हैं तथा कोविड-19 के मरीजों को अस्पतालों में भर्ती किये जाने के लिए कहीं अधिक संख्या में बिस्तरों की जरूरत बढ़ती जा रही है।

आज से 5 अगस्त तक 6 ट्रेनें रद्द, 4 गाड़ियां चलेंगी घंटों लेट
X

भारतीय रेल (प्रतीकात्मक फोटो)

दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामले बढ़ने के मद्देनजर रेलवे (Indian Railways) से शकूर बस्ती और आनंद विहार स्टेशनों (Shakur Basti and Anand Vihar Stations) पर कोविड मरीजों की देखभाल के लिए कोच (डिब्बे) लगा कर 5,000 बिस्तरों (Five Thousands Beds) की व्यवस्था करने का अनुरोध किया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind kejriwal) द्वारा साझा किये गये आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में कोविड-19 के 25,000 से अधिक नये मामले सामने आये हैं और नमूनों में संक्रमण की पुष्टि होने की दर पिछले 24 घंटे में बढ़ कर करीब 30 प्रतिशत पहुंच गई है। उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली के अस्पतालों में 100 से भी कम आईसीयू बिस्तर खाली हैं और हर क्षण स्थिति खराब होती जा रही है।

दिल्ली के मुख्य सचिव ने रेलवे को लिखा पत्र

दिल्ली के मुख्य सचिव विजय कुमार देव ने रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा को लिखे एक पत्र में कहा कि पिछले कुछ दिनों में दिल्ली में कोविड-19 के मामलों में जबरदस्त वृद्धि हुई है, जिसके चलते काफी संख्या में गंभीर मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कर इलाज करने की जरूरत पैदा हुई है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में मौजूद सरकारी और निजी अस्पताल भरते जा रहे हैं तथा कोविड-19 के मरीजों को अस्पतालों में भर्ती किये जाने के लिए कहीं अधिक संख्या में बिस्तरों की जरूरत बढ़ती जा रही है। देव ने कहा कि इसलिए, मेरा आपसे अनुरोध है कि कृपया आनंद विहार और शकूर बस्ती रेलवे स्टेशनों पर पूर्ण सुविधा, जरूरी मेडिकल एवं पैरामेडिकल कर्मी तथा ऑक्सजीन आदि की व्यवस्था के साथ तत्काल आधार पर कोविड-बिस्तरों का इंतजाम किया जाए। यह पत्र 17 अप्रैल को लिखा गया है, जिसमें कहा गया है कि पिछले साल की तरह ही यदि रेलवे 5,000 बिस्तरों के साथ इस तरह की और भी सुविधाएं उपलब्ध कराता है तो अच्छा रहेगा।

नर्सिंग होम और प्राइवेट अस्पताल 80 फीसदी बिस्तर कोविड रोगियों के लिए आरक्षित रखें

दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 से संबंधित उपचार मुहैया कराने वाले सभी नर्सिंग होम और निजी अस्पतालों से रविवार को कहा कि आईसीयू एवं वार्ड में बिस्तरों की क्षमता का 80 फीसदी कोरोना वायरस रोगियों के लिए आरक्षित रखें। आदेश में कहा गया है कि 115 निजी अस्पतालों में कोरोना वायरस रोगियों के लिए आईसीयू बिस्तर और वार्ड बिस्तर 100 फीसदी और 90 फीसदी भर चुके हैं। आदेश के मुताबिक कि इसलिए बिस्तर क्षमता में और बढ़ोतरी के लिए कोविड-19 से जुड़ी चिकित्सा मुहैया कराने वाले सभी नर्सिंग होम और निजी अस्पताल को निर्देश दिया जाता है कि अपने आईसीयू बिस्तर और वार्ड बिस्तर का 80 प्रतिशत कोरोना वायरस मरीजों के उपचार के लिए आरक्षित रखें। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि दिल्ली में कोविड-19 के करीब 25,500 नए मामले सामने आए हैं और पिछले 24 घंटे में संक्रमण की दर 30 फीसदी हो गई है।

Next Story