Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जानिए क्या है IGI एयरपोर्ट पर बनाया गया 'जीवोदय गोदाम', कैसे होगी कोरोना मरीजों की मदद

भारत कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहा है और कई राज्यों के अस्पताल दवाइयों, ऑक्सीजन व बिस्तरों की भारी किल्लत का सामना कर रहे हैं। बयान के मुताबिक, 28 अप्रैल से दो मई के बीच, पांच दिनों में करीब 25 उड़ानें दिल्ली हवाई अड्डे पहुंची जिनमें करीब 300 टन सामान था।

जानिए क्या है IGI एयरपोर्ट पर बनाया गया
X

IGI एयरपोर्ट

India Corona update भारत कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहा है और कई राज्यों के अस्पताल (Hospitals) दवाइयों, ऑक्सीजन (Oxygen) व बिस्तरों की भारी किल्लत का सामना कर रहे हैं। देशभर में कोरोना के मामले करीब 4 लाख के पास पहुंच चुके है। वहीं महामारी (Corona Pandemic) हजारों लोगों जान रोजाना जा रही है। ऐसे में दुनिया के कई देशों ने भारत की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है और कोविड से जंग के लिए राहत सामग्री भेजी है। दिल्ली अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (IGI Airport) पर पिछले पांच दिनों में 25 उड़ानें 300 टन कोविड-19 राहत सामग्री लेकर पहुंची हैं।

हवाई अड्डे के संचालक दिल्ली इंटरनेशल एयरपोर्ट लिमिटिड (डायल) ने सोमवार को एक बयान में बताया कि हवाई अड्डे ने राहत सामग्री को अंतरिम रूप से रखने व वितरण करने के लिए 3500 वर्ग मीटर में 'जीवोदय गोदाम' बनाया है। भारत कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहा है और कई राज्यों के अस्पताल दवाइयों, ऑक्सीजन व बिस्तरों की भारी किल्लत का सामना कर रहे हैं। बयान के मुताबिक, 28 अप्रैल से दो मई के बीच, पांच दिनों में करीब 25 उड़ानें दिल्ली हवाई अड्डे पहुंची जिनमें करीब 300 टन सामान था।

बयान में बताया गया है कि ये उड़ानें अमेरिका, ब्रिटेन, संयुक्त अरब अमीरात, उज्बेकिस्तान, थाइलैंड, जर्मनी, कतर, हांगकांग और चीन आदि जैसे विभिन्न देशों से आई थी। उसमें कहा गया है कि अधिकतर राहत उड़ानों का संचालन भारतीय वायुसेना के विमानों ने किया है जिनमें आईएल76, सी-130, सी-130, सी-5, सी-17 शामिल हैं। बकौल बयान, ये उड़ानें 5500 ऑक्सीजन सांद्रक, 3200 ऑक्सीजन सिलेंडर, 9,28,000 से अधिक मास्क, 1,36,000 रेमडेसिविर इंजेक्शन लेकर आई हैं।

Next Story