Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

धर्मांतरण रैकेट केस में बड़ी कार्रवाई- दिल्ली के शाहीन बाग में यूपी ATS की छापेमारी, कई ठिकानों से संवेदनशील दस्तावेज बरामद

इस दौरान यूपी एटीएस की टीम ने धर्मांतरण के मामले में गिरफ्तार हुए आरोपी मौलाना कलीम सिद्दीकी की ठिकानों पर रेड की है। कलीम सिद्दीकी के दफ्तर पर भी छापा मारा गया है। यहां से फंडिंग से जुड़े कुछ कागजात बरामद हुए हैं।

धर्मांतरण रैकेट केस में बड़ी कार्रवाई- दिल्ली के शाहीन बाग में यूपी ATS की छापेमारी, कई ठिकानों से संवेदनशील दस्तावेज बरामद
X

धर्मांतरण रैकेट केस में बड़ी कार्रवाई

उत्तर प्रदेश का धर्मांतरण केस (Religious Conversion Case) की आंच दिल्ली पहुंच गई है। इस मामले में आज यूपी एटीएस (UP ATS) ने दिल्ली के शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में छापेमारी की है। यहां कोर्ट के आदेश के बाद एटीएस ने कार्रवाई की है। इस दौरान यूपी एटीएस की टीम ने धर्मांतरण के मामले में गिरफ्तार हुए आरोपी मौलाना कलीम सिद्दीकी (Maulana Kaleem Siddiqui) की ठिकानों पर रेड की है। कलीम सिद्दीकी के दफ्तर पर भी छापा मारा गया है। यहां से फंडिंग (Funding) से जुड़े कुछ कागजात बरामद हुए हैं।

दरअसल, कोर्ट के आदेश के बाद यूपी एटीएस की टीम आज सुबह 9 बजे यहां पहुंची थी। इस दौरान शाहीन बाग इलाके के एफ-ब्लॉक में टीम ने छापेमारी की है। इसके अलावा कुछ और जगहों पर जाकर भी सर्चिंग अभियान चलाया। बताया जा रहा है कि एटीएस ने धर्मांतरण के मामले में गिरफ्तार हुए आरोपी मौलाना कलीम सिद्दीकी की ठिकानों पर छापेमारी की है। यहां जरूरी दस्तावेज भी बरामद किए है। एटीएस के मुताबिक, धर्मांतकरण का ये पूरा खेल देशभर में दो साल से चल रहा था।

इसी मामले में एटीएस ने 21 सितंबर को मौलाना कलीम सिद्दीकी को भी गिरफ्तार किया था। उसकी गिरफ्तारी के बाद एटीएस ने मोहम्मद इदरिस, मोहम्मद सलीम और कुनाल अशोक चौधरी उर्फ आतिफ को गिरफ्तार किया था। आपको बता दें कि यूपी एटीएस ने इसी साल जून में नोएडा से चलने वाले धर्मांतरण रैकेट का भंडाफोड़ किया था। इस मामले में एटीएस ने मौलाना उमर गौतम और मुफ्ती काजी जहांगीर कासमी को गिरफ्तार किया था। ये दोनों दिल्ली के जामिया नगर इलाके के रहने वाले हैं।

Next Story