Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Kaam Ki Khabar : CM अरविंद केजरीवाल 'फेसलेस योजना' की करेंगे शुरुआत, घर बैठे ही ऐसे बनवा सकेंगे लर्निंग लाइसेंस

दिल्ली सरकार की फेसलेस स्कीम के आने के बाद 11 अगस्त से घर बैठे ही ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस की परीक्षा दे सकेंगे। इस योजना की शुरुआत के बाद आवेदकर्ताओं को केवल परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए ही ड्राइविंग टेस्ट देने आरटीओ ऑफिस जाने की जरूरत होगी। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बताया कि इस योजना से लोगों को काफी फायदा होगा।

CM अरविंद केजरीवाल
X

CM अरविंद केजरीवाल 'फेसलेस योजना' की करेंगे शुरुआत

Delhi Driving Licence दिल्ली की आरटीओ (RTO) में अब लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस के लिए चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। क्योंकि दिल्ली सरकार (Delhi Government) जल्द ही लाइसेंस आवेदकों के लिए 'फेसलेस योजना' (Faceless Scheme) की शुरुआत करने वाली है। इसके लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) बुधवार को इस योजना को लॉन्च करेंगे। इसकी सूचना दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत (Delhi Transport Minister Kailash Gehlot) ने दी है। उन्होंने कहा कि ये योजना आने के बाद लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस के अलावा परिवहन विभाग से जुड़ी कई अन्य सुविधाओं के लिए आरटीओ दफ्तर के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे।

11 अगस्त से घर बैठे ही ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस का दे सकेंगे एग्जाम

दिल्ली सरकार की फेसलेस स्कीम के आने के बाद 11 अगस्त से घर बैठे ही ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस की परीक्षा दे सकेंगे। इस योजना की शुरुआत के बाद आवेदकर्ताओं को केवल परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए ही ड्राइविंग टेस्ट देने आरटीओ ऑफिस जाने की जरूरत होगी। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बताया कि इस योजना से लोगों को काफी फायदा होगा। साथ ही साथ उनका काफी समय का बचत भी होगा। परिवहन मंत्री ने मंगलवार को लॉन्च की तैयारियों और स्कीम के ट्रायल को लेकर सभी 13 आरटीओ अधिकारियों के साथ बैठक की है।

इस योजना के लिए सॉफ्टवेयर का किया जाएगा इस्तेमाल

ऑनलाइन आवेदनकर्ता को लर्निंग लाइसेंस के लिए परीक्षा की तिथि और समय की पहले ही जानकारी दे दी जाएगी। उसी समय आवेदक को ऑनलाइन आकर परीक्षा देनी होगी। सॉफ्टवेयर के जरिए ही आवेदक की फोटो को पहचाना जाएगा। उसके फोटो को आधार कार्ड में लगे फोटो से चिन्हित किया जाएगा, जिससे यह सुनिश्चित किया जाएगा कि परीक्षा देने वाला ही आवेदक है। दिल्ली में 13 आरटीओ कार्यालय हैं। उसमें लर्निंग लाइसेंस के लिए रोजाना करीब 1500 आवेदन आते हैं। औसतन एक आरटीओ में 100 से 125 आवेदन रोजाना आते हैं, जिसके चलते कई बार लोगों को परीक्षा देने के लिए दो से तीन महीने तक की वेटिंग भी मिलती है।

Next Story