Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

CM अरविंद केजरीवाल ने किया साफ- अभी दिल्ली में स्कूल रहेंगे बंद, बच्चों को लेकर नहीं ले सकते रिस्क

केजरीवाल ने कहा कि जैसा कि हम देख रहे हैं, कोरोना वायरस महामारी की तीसरी लहर आने की आशंका है। इसलिए जब तक टीकाकरण प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती, हम बच्चों के साथ कोई खतरा नहीं मोल सकते। इसलिए फिलहाल स्कूलों को दोबारा खोलने की कोई योजना नहीं है।

CM अरविंद केजरीवाल ने किया साफ- अभी दिल्ली में स्कूल रहेंगे बंद, बच्चों को लेकर नहीं ले सकते रिस्क
X

CM अरविंद केजरीवाल ने किया साफ

दिल्ली में कोरोना (Delhi Coronavirus) के मामले लगातार आ रहे है। हालांकि मामले 100 से नीचे दर्ज किए जा रहे है। उधर, कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave) आने की आशंका बढ़ती जा रही है। इस बीच, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने फैसला किया कि स्कूल और कॉलेजों (School And College) को अभी नहीं खोला जा सकता। इसके साथ ही उन सभी अटकलों को केजरीवाल ने विराम दे दिया जिसमें कहा जा रहा था कि दिल्ली में अब जल्द ही स्कूलों को खोल दिया जाएगा। साथ ही केजरीवाल ने कहा कि जैसा कि हम देख रहे हैं, कोरोना वायरस महामारी की तीसरी लहर आने की आशंका है। इसलिए जब तक टीकाकरण प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती, हम बच्चों के साथ कोई खतरा नहीं मोल सकते। इसलिए फिलहाल स्कूलों को दोबारा खोलने की कोई योजना नहीं है।

कई राज्यों में फिर से खोले गए स्कूल

केजरीवाल ने यह जानकारी पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में दी जिसमें पूछा गया था कि क्या अन्य राज्यों की तरह दिल्ली में भी स्कूलों को फिर से खोलना शुरू किया जाएगा। इस महीने गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और बिहार राज्यों ने आंशिक रूप से स्कूलों को पुन: खोलना शुरू कर दिया है। मध्य प्रदेश ने भी इस महीने के अंत में स्कूलों को पुन: खोलने की योजना बनाई है। पुडुचेरी की सरकार ने पहले 16 जुलाई से स्कूलों को फिर से खोलने की योजना की घोषणा की थी लेकिन अभी उसने फैसला टाल दिया है।

पिछले साल मार्च से स्कूलों को किया गया है बंद

राष्ट्रीय राजधानी के स्कूलों को पिछले साल मार्च में संक्रमण के मामले सामने आने के बाद बंद कर दिया गया था। कई राज्यों में पिछले साल अक्टूबर में स्कूलों को पुन: खोलने की शुरुआत कर दी गयी थी। दिल्ली सरकार ने इस साल जनवरी में केवल नौवीं से बारहवीं के छात्रों को ही स्कूल आने की अनुमति दी थी, लेकिन कोविड-19 के मामले फिर से बढ़ने के बाद इस आदेश को स्थगित कर दिया गया। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि प्राइवेट स्कूलों से दिल्ली के सरकारी स्कूलों में प्रवेश लेने के इच्छुक विद्यार्थियों को स्थानांतरण प्रमाण-पत्र (टीसी) उपलब्ध नहीं होने पर प्रवेश देने से इनकार नहीं किया जा सकता है।

Next Story