Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

CBSE 10th बोर्ड परीक्षा रद्द और 12वीं की परीक्षाओं को टलने पर CM अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने कही ये बड़ी बात

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोविड-19 के मामले बढ़ने के मद्देनजर सीबीएसई की 10 वीं कक्षा की परीक्षा रद्द करने और 12 वीं कक्षा की परीक्षा टालने के फैसले का स्वागत करते हुए बुधवार को कहा कि इससे छात्रों और उनके अभिभावकों को बड़ी राहत मिलेगी। केजरीवाल ने ट्वीट किया कि मुझे खुशी है कि परीक्षाएं रद्द/स्थगित कर दी गईं।

CBSE 10th बोर्ड परीक्षा रद्द और 12वीं की परीक्षाओं को टालने पर CM अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने कही ये बड़ी बात
X

CM अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया

दिल्ली समेत देशभर में कोरोना कोहराम (Coronavirus) मचा हुआ है। ऐसे में स्कूलों में बोर्ड (Board Exam) की परीक्षा कराना बच्चों और शिक्षकों के लिए बहुत बड़ा खतरा था। वहीं कोरोना का बड़े पैमाने पर फैलने का डर था। लेकिन आज केंद्र सरकार ने सीबीएसई (CBSE) के छात्रों और शिक्षकों के लिए राहत भरी खबर आई है। केंद्र सरकार (Central Government) ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 10 वीं कक्षा की परीक्षा रद्द (Canceling 10th Board) करने और 12 वीं कक्षा की परीक्षा टालने (Postponing 12th Exams) के फैसला किया है।

इस फैसले को लेकर दिल्ली के छात्रों और उनके अभिभावकों ने आभार जताया है। साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने कोविड-19 के मामले बढ़ने के मद्देनजर सीबीएसई की 10 वीं कक्षा की परीक्षा रद्द करने और 12 वीं कक्षा की परीक्षा टालने के फैसले का स्वागत करते हुए बुधवार को कहा कि इससे छात्रों और उनके अभिभावकों को बड़ी राहत मिलेगी। केजरीवाल ने ट्वीट किया कि मुझे खुशी है कि परीक्षाएं रद्द/स्थगित कर दी गईं।

यह लाखों छात्रों और उनके अभिभावकों के लिए एक बड़ी राहत है। वहीं दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि मुझे खुशी है कि 10वीं की परीक्षा रद्द की गई और 12वीं की परीक्षा ​स्थगित की गई है। 12वीं कक्षा के बच्चों के मन में जो चिंता बनी रहेगी उसको दूर किया जा सकता था। मैं अपील करता हूं कि 12वीं कक्षा के छात्रों को भी आतंरिक मूल्यांकन के आधार पर प्रमोट किया जाए।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, केंद्रीय शिक्षा सचिव तथा अन्य शीर्ष अधिकारियों की मौजूदगी में बुधवार को हुई एक बैठक में इस बारे में फैसला लिया गया। बैठक के बाद एक बयान जारी कर परीक्षाओं के संबंध में लिए गए निर्णयों की जानकारी साझा की गई। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की परीक्षाएं चार मई से होनी थीं।

Next Story