Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

CM केजरीवाल ने कोरोना वैक्सीन खरीद को लेकर केंद्र को दी ये सलाह, टीकाकरण सेंटर बंद होने पर राघव चड्ढा ने साधा निशाना

आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा ने कहा कि केंद्र सरकार के पास वैक्सीन को लेकर कोई नीति नहीं है और राज्यों को केंद्र ने अपने हाल पर छोड़ दिया है। वैक्सीन ना होने से टीकाकरण केंद्र बंद हो गए हैं। जनवरी में भारत में वैक्सीन आ गई थी तो 3 महीने में मोदी सरकार ने हर किसी को वैक्सीन क्यों नहीं लगवाई?

दिल्ली में जल्द जाएगी Stupnik-V की 67 लाख डोज, CM अरविंद केजरीवाल ने लिखा पत्र
X

दिल्ली में जल्द जाएगी Stupnik-V की 67 लाख डोज

Delhi Covid Vaccination दिल्ली समेत पूरे देश में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की कमी होने लगी है। जिसके कारण देश के कई राज्यों ने कोरोना अभियान को फिलहाल रोक दिया गया है। क्योंकि उनके पास प्रयाप्त टीके उपलब्ध नहीं हो रहे है। इस बीच, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने गुरुवार को कहा कि कोविड के टीकों के लिए राज्यों के, अंतरराष्ट्रीय बाजार में एक-दूसरे से झगड़ने और प्रतियोगिता करने से भारत की छवि खराब होती है। उन्होंने दिल्ली और कई अन्य राज्यों में टीकों की खुराकों की कमी की पृष्ठभूमि में कहा कि केंद्र को राज्यों की तरफ से टीकों की खरीद करनी चाहिए।

वहीं आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा (Raghav Chadha) ने कहा कि केंद्र सरकार के पास वैक्सीन को लेकर कोई नीति नहीं है और राज्यों को केंद्र ने अपने हाल पर छोड़ दिया है। वैक्सीन ना होने से टीकाकरण केंद्र बंद हो गए हैं। जनवरी में भारत में वैक्सीन आ गई थी तो 3 महीने में मोदी सरकार ने हर किसी को वैक्सीन क्यों नहीं लगवाई?

एक राज्य दूसरे राज्य से न लड़े: केजरीवाल

आम आदमी पार्टी (आप) अध्यक्ष ने एक ट्वीट में कहा कि भारतीय राज्यों को अंतरराष्ट्रीय बाजार में एक-दूसरे से प्रतियोगिता करने/ लड़ने के लिए छोड़ दिया गया है। उत्तर प्रदेश महाराष्ट्र से, महाराष्ट्र ओडिशा से, ओडिशा दिल्ली से लड़ रहा है। भारत कहां है? भारत की कितनी खराब छवि बनती है। भारत को एक देश के तौर पर सभी भारतीय राज्यों की तरफ से टीकों की खरीद करनी चाहिए। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि भारत द्वारा टीका उत्पादन कर रहे देशों का रुख करने से अधिक सौदेबाजी की शक्ति मिलेगी बजाय राज्यों द्वारा व्यक्तिगत रूप से ऐेसा करने के।

मनीष सिसोदिया ने केंद्र पर लगाया आरोप

उन्होंने कहा कि भारत सरकार के पास ऐसे देशों के साथ मोल-भाव करने के लिए अधिक कूटनीतिक संभावना है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इससे पहले कहा था कि दिल्ली टीकों के लिए वैश्विक निविदा निकालेगी जबकि भाजपा नीत केंद्र पर राज्यों को ऐसा करने पर मजबूर करने का आरोप लगाया था। कोवैक्सीन का भंडार खत्म होने के बाद दिल्ली में करीब 100 टीकाकरण केंद्रों को बंद कर दिया गया है।

Next Story