Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छत्रसाल स्टेडियम हत्याकांड मामला: पुलिस ने कोर्ट में कहा- सुशील कुमार के खिलाफ पूरक आरोपपत्र जल्द करेंगे दायर

इस मामले में ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार भी आरोपी हैं। पुलिस ने दो अगस्त को पहला आरोप पत्र दायर किया था जिसमें 13 आरोपियों का उल्लेख था और इसमे सुशील कुमार को मुख्य आरोपी बताया गया था। पुलिस के अनुसार, हत्या मामले में कुल 17 आरोपी हैं। जिनको गिरफ्तार किया गया है।

छत्रसाल स्टेडियम हत्याकांड मामला: पुलिस ने कोर्ट में कहा- सुशील कुमार के खिलाफ पूरक आरोपपत्र जल्द करेंगे दायर
X

पुलिस ने कोर्ट में कहा- सुशील कुमार के खिलाफ पूरक आरोपपत्र जल्द करेंगे दायर

Chhatrasal Stadium Murder Case छत्रसाल स्टेडियम हत्याकांड मामले में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने कोर्ट (Delhi Court) को बताया कि इस मामले में पूरक आरोपपत्र (Supplementary Charge Sheet) जल्द दायर किया जाएगा। इस मामले में ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार (Wrestler Sushil Kumar) भी आरोपी हैं। पुलिस ने दो अगस्त को पहला आरोप पत्र दायर किया था जिसमें 13 आरोपियों का उल्लेख था और इसमे सुशील कुमार को मुख्य आरोपी बताया गया था। पुलिस के अनुसार, हत्या मामले में कुल 17 आरोपी हैं। जिनको गिरफ्तार किया गया है।

संपत्ति विवाद को पहलवान सागर धनकर की गई थी हत्या

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश शिवाजी आनंद ने चार अक्टूबर को दिए एक आदेश में कहा कि निरीक्षक मंगेश त्यागी ने कहा है कि बाकी आरोपियों पर पूरक आरोपपत्र शीघ्र दायर किया जाएगा। कुमार और अन्य ने कथित संपत्ति विवाद को लेकर मई में स्टेडियम में कथित तौर पर पूर्व जूनियर राष्ट्रीय पहलवान सागर धनकर और उसके दोस्तों पर हमला किया था। बाद में धनकर की मौत हो गई थी। पहले आरोपपत्र में पुलिस ने कहा था कि स्टेडियम में हुई झड़प सुशील कुमार द्वारा रची गई साजिश का नतीजा थी।

पुलिस ने अदालतों की सुरक्षा पर सौंपे सुझाव

दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को हाईकोर्ट में कहा कि हाल में रोहिणी कोर्ट में गोलीबारी से तीन लोगों के मारे जाने की घटना के बाद अदालतों में सुरक्षा व्यवस्था के बारे में सुझाव दिए हैं। मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति ज्योति सिंह की पीठ ने केंद्र सरकार, दिल्ली सरकार और विभिन्न बार एसोसिएशन समेत अन्य हितधारकों से भी सुझाव देने के लिए कहा है ताकि उन्हें आदेश में शामिल किया जा सके। पीठ ने कहा कि अन्य सभी प्रतिवादियों को सुझावों पर एक रिपोर्ट या हलफनामा दायर करना होगा जिसे दिल्ली की अदालतों में पेश होने वाले वकीलों और अन्य लोगों की सुरक्षा के लिए दिए जाने वाले आदेश में शामिल किया जाएगा।

Next Story