Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केंद्र सरकार ने इस विदेशी यूट्यूबर ब्लॉगर को किया ब्लैक लिस्ट, हाईकोर्ट को बताई वजह

हाईकोर्ट की पीठ के समक्ष केंद्र के वकील ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि उन्हें वीजा नियमों का उल्लंघन करने की वजह से काली सूची में डाला गया है। हमें स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने की अनुमति दें। वह जीवनसाथी वीजा पर कारोबार कर रहे थे। इस मामले की अगली सुनवाई 23 सितंबर को होगी।

केंद्र सरकार ने हाईकोर्ट को बताया- आखिर क्यों इस यूट्यूब ब्लॉगर को काली सूची में डाला गया
X

केंद्र सरकार ने हाईकोर्ट को बताया

भारत में यूट्यूब ब्लॉगर कार्ल रॉक (Youtube Blogger Carl Rock) को वीजा नियमों का उल्लंघन (Violation of Visa Rules) करने की वजह से केंद्र सरकार ने ब्लैक लिस्ट (BlackList) कर दिया है। इस बात को लेकर उनकी पत्नी मनीषा मलिक ने दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) का रुख किया था। जिसके बाद आज हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान केंद्र (Central Government) ने शुक्रवार को हाईकोर्ट को बताया कि यूट्यूब ब्लॉगर कार्ल रॉक को वीजा नियमों का उल्लंघन करने की वजह से भारत में आने की परमिशन पर रोक लगाते हुए उन्हें ब्लैक लिस्ट किया गय है। इसकी वजह उनका जीवनसाथी वीजा पर कारोबार करना है।

मनीषा ने केंद्र के फैसले को दी थी चुनौती

इस याचिका में उन्होंने पति को वीजा देने से इनकार करने पर केंद्र के फैसले को चुनौती दी थी। उन्होंने इस फैसले को मनमाना और अतार्किक करार दिया था। वहीं, हाईकोर्ट ने कहा कि वीजा देना केंद्र का विशेषाधिकार है, लेकिन यह तार्किक होना चाहिए और संबंधित पक्ष को इससे अवगत कराया जाना चाहिए। केंद्र को नोटिस जारी करते हुए अदालत ने कहा कि आप इसे न्यायोचित ठहरा सकते हैं, लेकिन उन्हें भी जानकारी होनी चाहिए। इसके साथ ही अदालत ने केंद्र को तीन सप्ताह में जवाब देने का निर्देश दिया है।

केंद्र सरकार पर लगाया आरोप

मनीषा मलिक के वकील ने अदालत को सूचित किया कि उनके मुवक्किल को सरकार की ओर से वीजा रद्द करने के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई और पिछले साल अक्टूबर में भारत से जाने के बाद उनके वीजा पर रद्द की मोहर बिना किसी कोई कारण बताए लगा दी गई। अय्यूबी ने मुवक्किल की ओर से बताया कि मैंने वीजा अवधि बढ़ाने को कहा, लेकिन इसके बजाय उन्होंने मुझे निकास पत्र (एग्जिट परमिट) दे दिया। याचिका में कहा गया कि कार्ल एडवर्ड राइस 2013 से ही भारत आ रहे हैं और देश के कानून और वीजा शर्तों का कड़ाई से अनुपालन करते हैं। उनके पास न्यूजीलैंड और नीदरलैंड की दोहरी नागरिकता है।

Next Story