Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Budget 2021: बजट से दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे और लाइट मेट्रो कॉरिडोर को मिली रफ्तार, जल्द होंगे दोनों तैयार

Budget 2021: करीब 1,261 किलोमीटर लंबे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे के निर्माण के लिए अधिग्रहण की अंतिम कड़ी में जल्द ही 250 किलोमीटर के लिए भी टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इस प्रोजेक्ट पर लगभग 1 लाख करोड़ रुपये की लागत आ रही है।

Budget 2021: बजट से दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे और लाइट मेट्रो कॉरिडोर को मिली रफ्तार, जल्द होंगे दोनों तैयार
X

बजट से दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे और लाइट मेट्रो कॉरिडोर को मिली रफ्तार

Budget 2021 वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज संसद में बजट पेश किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह संसद भवन में मौजूद रहे। वहीं लोकसभा में बजट पास हो गया है। बजट में हर वर्ग और हर सेक्टरों का ध्यान रखा गया है। वहीं इस बजट से राष्ट्रीय राजधानी को भी फायदा मिला है। क्योंकि अब किसी भी राज्य से राजधानी में आने के लिए अब सिर्फ 13 घंटे ही लगेंगे। क्योंकि आज के बजट में घोषणा की गई कि करीब 1,261 किलोमीटर लंबे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे के निर्माण के लिए अधिग्रहण की अंतिम कड़ी में जल्द ही 250 किलोमीटर के लिए भी टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इस प्रोजेक्ट पर लगभग 1 लाख करोड़ रुपये की लागत आ रही है। दरअसल, 8 लेन के इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य इंजीनियरिंग, प्रोक्यूरमेंट और कंस्ट्रक्शन रूट के ​जरिये किया जा रहा है।

इन मार्गों से राजधानी की आसान हो जाएगी कनेक्टिविटी

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के मुताबिक, दिल्ली-एक्सप्रेस-वे 6 राज्यों हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र और दिल्ली से होकर गुजरेगा। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे बनने से जयपुर, कोटा, चितौड़गढ़, इंदौर, उज्जैन, भोपाल, अहमदाबाद और वडोदरा की कनेक्टिविटी आसान हो जाएगी। 1,261 किलोमीटर लंबे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे इस एक्सप्रेस-वे के पूरा होने पर दोनों शहरों के बीच की दूरी 150 किमी कम हो जाएगी और यात्रा का समय भी 24 घंटे से घटकर 13 घंटे रह जाएगा।

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे 2023-24 तक बनकर हो जाएगा तैयार

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे 2023-24 तक बनकर तैयार हो सकता है। क्योंकि जिस रफ्तार से निर्माण कार्य चल रहा है उसी रफ्तार से बिना किसी दिक्कत के चलता रहा तो अपने तय समय पर ये एक्सप्रेसवे बनकर तैयार हो जाएगा। इस एक्सप्रेस-वे के अस्तित्व में आते ही दिल्ली से मुंबई के बीच का सफर सिर्फ 13 घंटे का हो जाएगी। फिलहाल राजधानी जैसी ट्रेन से भी दिल्ली से मुंबई तक का सफर तय करने में 15 घंटे का समय लगता है। ऐसे में लोग सड़क मार्ग से ही 13 घंटे में दिल्ली-मुंबई की यात्रा की जा सकेगी। फिलहाल सड़क मार्ग के जरिये दिल्ली-मुंबई जाने में 24 घंटे का समय लगता है।

दिल्ली मेट्रो के लिए दो नई तकनीकियों का होगा इस्तेमाल

अब दिल्ली मेट्रो बनाने में लाइट और नियो नाम की दो नई तकनीकियों को इस्तेमाल किया जाएगा। दरअसल, पिछले साल दिसंबर में ही नियो मेट्रो को लॉन्च किया था। केंद्रीय शहरी मंत्रालय के मुताबिक, यह देश के उन शहरों के लिए लाया गया है, जहां पर 20 लाख तक की जनसंख्या है। दरअसल, रबर टायर पर चलने वाली 3 कोच वाली इस मेट्रो की लागत परंपरागत मेट्रो के निर्माण लागत से 40 फीसदी तक कम है। ऐसे में माना जा रहा है कि दिल्ली मेट्रो के चौथे फेज में नियो मेट्रो का इस्तेमाल किया जा सकता है। वहीं, दिल्ली से सटे शहरों मसलन, नोएडा-ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद में मेट्रो विस्तार में नियो मेट्रो का इस्तेमाल किया सकता है।

Next Story