Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केजरीवाल सरकार की अहम पहल - दिल्लीवासियों को मिलेगा हेल्थ कार्ड, अस्पतालों में लाइनों से मिलेगी निजात

इस कार्ड की मदद से मरीजों को घर बैठे डॉक्टर्स का आनलाइन एप्वाइंटमेंट मिल सकेगा। इसके अलावा इस कार्ड की मदद से लोगों को इमरजेंसी सेवाएं आसानी से मिल जाएंगी। ये कार्ड दिल्ली के स्वास्थ्य ढांचे के लिए गेम चेंजर साबित हो सकता है। विदेश की तरह दिल्ली वालों के पास भी अपना हेल्थ कार्ड होगा।

Delhi News: दिल्लीवासियों को हेल्थ कार्ड देने का रास्ता साफ, दिल्ली कैबिनेट ने पास किया इतने करोड़ का बजट
X

 दिल्लीवासियों को हेल्थ कार्ड देने का रास्ता साफ

दिल्ली सरकार (Delhi Government) स्वास्थ्य क्षेत्र (Health Sector) में अहम पहल करने जा रही है। राजधानी के हर इंसान को नए साल में हेल्थ कार्ड देने की बात कही जा रही है। ये प्रोटेक्ट सरकार और दिल्ली में रह रहे लोगों के लिए गेम चेंजर साबित होने वाली है। क्योंकि इस हेल्थ कार्ड (Health Card) में कार्डधारी के स्वास्थ्य का पूरा ब्यौरा होगा। अस्पतालों (Delhi Hospitals) में उसे लाइनों में नहीं खड़ा होना पड़ेगा। अगले साल की शुरुआत में दिल्लीवालों तक हेल्थकार्ड पहुंचाने का प्लान बना रही है। इस बारे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने गुरुवार को हेल्थ कार्ड, स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली (HIMS) प्रोजेक्ट को लेकर समीक्षा बैठक की।

इस दौरान प्रोजेक्ट के स्टेटस, हेल्थ कार्ड और हेल्थ हेल्पलाइन शुरू करने पर भी चर्चा हुई। केजरीवाल ने इस प्रोजेक्ट को तय समय सीमा के भीतर पूरा करने के आदेश दिए हैं। आपको बता दे कि इस कार्ड की मदद से मरीजों को घर बैठे डॉक्टर्स का आनलाइन एप्वाइंटमेंट मिल सकेगा। इसके अलावा इस कार्ड की मदद से लोगों को इमरजेंसी सेवाएं आसानी से मिल जाएंगी। ये कार्ड दिल्ली के स्वास्थ्य ढांचे के लिए गेम चेंजर साबित हो सकता है। विदेश की तरह दिल्ली वालों के पास भी अपना हेल्थ कार्ड होगा।

केजरीवाल सरकार इस बड़े प्रोजेक्ट को अगले साल की शुरुआत में लागू करने जा रही है। इसके लिए वेंडर का चयन और वित्तीय बिड की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। इस योजना को लेकर दिल्ली सरकार का प्लान यह है कि लोगों को हेल्थ कार्ड बनवाने के लिए अस्पतालों या दफ्तारों के चक्कर न काटने पड़े। लोगों को इस परेशानी से मुक्ति दिलाने के लिए सरकार पूरी दिल्ली में सर्वे कराएगी, जिससे कि सभी का हेल्थ कार्ड बनाया जा सके। साथ ही अस्पतालों और अन्य निर्धारित स्थानों पर भी हेल्थ कार्ड बनाए जाएंगे। डोर टू डोर सत्यापन कर हेल्थ कार्ड वितरित किए जाएंगे।

Next Story