Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Pollution : प्रदूषण के बिगड़ते हालात पर CM केजरीवाल का बड़ा ऐलान, एक हफ्ते के लिए सभी स्कूल बंद करने के दिए निर्देश

प्रदूषण (Delhi Pollution) के चलते दिल्ली में हालात और खराब हो गए हैं। बिगड़ते हालात को देखते हुए दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने स्कूलों (Schools) में एक हफ्ते के लिए छुट्टी घोषित कर दी है।

Delhi Pollution : प्रदूषण के बिगड़ते हालात पर CM केजरीवाल का बड़ा ऐलान, एक हफ्ते के लिए सभी स्कूल बंद करने के दिए निर्देश
X

प्रदूषण (Delhi Pollution) के चलते दिल्ली में हालात और खराब हो गए हैं। बिगड़ते हालात को देखते हुए दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने स्कूलों (Schools) में एक हफ्ते के लिए छुट्टी घोषित कर दी है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ( Arvind Kejriwal) ने शनिवार को ऐलान किया कि सभी स्कूल एक हफ्ते के लिए बंद रहेंगे।

स्कूलों में छुट्टी घोषित करने का दिल्ली सरकार का फैसला 15 नवंबर से लागू किया जाएगा। सीएम केजरीवाल ने यह भी कहा है कि सरकारी कर्मचारी भी घर से काम करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि 14 नवंबर से 17 नवंबर के बीच निर्माण संबंधी गतिविधियों पर भी रोक लगा दी गई है। इस दौरान निर्माण संबंधी गतिविधियों की अनुमति नहीं होगी। सीएम ने कहा है कि प्रदूषण की स्थिति को लेकर आज बुलाई गई बैठक में यह फैसला लिया गया है।

सभी स्कूलों में छुट्टी घोषित करने के संबंध में उन्होंने कहा कि यह फैसला बच्चों के हित में लिया गया है। प्रदूषित हवा में बच्चों की सांस नहीं लेने को देखते हुए स्कूलों में छुट्टी लेने का फैसला किया गया। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि इस दौरान ऑनलाइन कक्षाएं (Online classes) संचालित की जा सकती हैं।

लॉकडाउन लगाने पर कर रहे है विचार

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के दूवारा पूर्ण लॉकडाउन (Lockdown) पर सुझाव देने पर केजरीवाल ने कहा कि हम इस संबंध में एक प्रस्ताव बना रहे हैं और इसे सुप्रीम कोर्ट के समक्ष रखेंगे। उनहोने कहा कि अगर स्थिति बनती है तो सभी सरकारी एजेंसियों को विश्वास में लेकर वाहनों की आवाजाही को रोका जा सकता है।

सुप्रीम कोर्ट की फटकार खाने के बाद एक्सशन में आई सरकार

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण में बढ़ोतरी को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को केंद्र और दिल्ली सरकार को फटकार लगाई थी। कोर्ट (Supreme Court) ने हवा की गुणवत्ता में सुधार के लिए आपातकालीन कदम उठाने को कहा था। प्रधान न्यायाधीश एनवी रमना (Chief Justice NV Ramana) की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा था कि प्रदूषण (Pollution) की स्थिति इतनी खराब है कि लोग अपने घरों के अंदर मास्क पहने हुए हैं। बेंच में जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ (Justice DY Chandrachud) और जस्टिस सूर्यकांत (Justice Suryakant) भी शामिल थे।

Next Story