Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अलीगढ़ जहरीली शराब कांड के बाद जिला प्रशासन अलर्ट, ऑपरेशन चलाकर शराब के ठेकों पर की छापेमारी

ग्रेटर नोएडा में यमुना प्राधिकरण क्षेत्र का काफी बड़ा हिस्सा बुलंदशहर और अलीगढ़ से सटा हुआ है। गौतमबुद्ध नगर में यमुना और हिंडन का क्षेत्र अवैध रूप से देसी शराब बनाए जाने के लिए बदनाम हैं। वैसे भी यमुना के दूसरी तरफ हरियाणा की सीमा लगती है।

अलीगढ़ जहरीली शराब कांड के बाद जिला प्रशासन अलर्ट, ऑपरेशन चलाकर शराब के ठेकों पर की छापेमारी
X

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में जहरीली शराब पीने से लोगों की हुई मौत के बाद जिला प्रशासन अलर्ट हो गया है। इसी कड़ी में एसडीएम दादरी, एक्साइज इंस्पेक्टर और पुलिस के संयुक्त ऑपरेशन के दौरान कई शराब के ठेकों पर औचक निरीक्षण किया गया। साथ ही जानकारी हासिल की कि कहीं ऐसा तो नहीं है कि गलत तरीके से शराब बेची जा रही हो, इसके साथ ही जिला प्रशासन ने शराब के ठेकों पर तैनात लोगों को आदेश दिया कि वह इस बात का ध्यान रखेंगे कि लोग लॉकडाउन का उल्लंघन ना करें। वहीं अचानक हुई छापेमारी से शराब के ठेकों पर तैनात लोगों में हड़कंप मच गया।

ग्रेटर नोएडा में यमुना प्राधिकरण क्षेत्र का काफी बड़ा हिस्सा बुलंदशहर और अलीगढ़ से सटा हुआ है। गौतमबुद्ध नगर में यमुना और हिंडन का क्षेत्र अवैध रूप से देसी शराब बनाए जाने के लिए बदनाम हैं। वैसे भी यमुना के दूसरी तरफ हरियाणा की सीमा लगती है। जहां से गौतमबुद्ध नगर की ओर बड़े स्तर पर शराब की तस्करी खबरें सामने आती रहती हैं। शराब माफिया पर नकेल कसने के लिए प्रशासन, आबकारी और पुलिस की टीम ने संयुक्त रूप से अभियान चलाया है। इसके अलावा अलग-अलग टीमें शराब की दुकानों पर भी छापेमारी कर रही हैं। शराब की दुकानों पर छापेमारी कर देखा जा रहा है कि कहीं ठेका संचालक जहरीली शराब की सप्लाई तो नहीं कर रहे हैं।

एसडीएम दादरी और एक्साइज इंस्पेक्टर ने ठेका संचालकों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के साथ शराब की बिक्री के निर्देश दिए। जो लोग मास्क लगाकर आ रहे हैं, उन्हीं लोगों को शराब दी जाए इसके साथ ही अगर कोई नाबालिक आता है तो उसको शराब ना दी जाये। सभी को हिदायत दी गई कि किसी भी प्रकार की अनियमितता पाए जाने पर कठोर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

Next Story