Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का बढ़ा कहर, गाजियाबाद-नोएडा समेत गुरुग्राम की हालत बेहद खराब, जानें आज का AQI

Delhi NCR Air Pollution: केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक, दिल्ली की वायु गुणवत्ता बहुत खराब है। वायु गुणवत्ता सूचकांक सुबह नौ बजे 306 था। सुबह साढे आठ बजे सापेक्षिक आर्द्रता 98 प्रतिशत थी।

Delhi Pollution: दिल्ली में प्रदूषण का स्तर गंभीर श्रेणी में दर्ज, जानें आज का AQI
X

प्रदूषण का बढ़ा कहर

दिल्ली में प्रदूषण (Delhi Pollution) का स्तर बढ़ने लगा है। वायु गुणवत्ता (AQI) बेहद खराब श्रेणी में दर्ज की गई है। आने वाले दिनों में गर्मी के साथ प्रदूषण के स्तर में लगातार बढ़ोतरी की आशंका जताई जा रही है। वहीं दिल्ली की हवा खराब (Delhi Air Quality) होने से लोगों को कई तरह की समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के मुताबिक, दिल्ली की वायु गुणवत्ता बहुत खराब है। वायु गुणवत्ता सूचकांक सुबह नौ बजे 306 था।

सुबह साढे आठ बजे सापेक्षिक आर्द्रता 98 प्रतिशत थी। मौसम विभाग (IMD) ने बताया कि आने वाले दिनों में तापमान (Delhi Temperature) में और अधिक वृद्धि देखने को मिलेगी। जबकि आज दिल्ली में न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है और अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रहने की आशंका है। दिल्ली से सटे गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद और गुरुग्राम में औसत वायु गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी में थी जिसमें लंबे समय तक रहने से लोगों में सांस की बीमारी हो सकती है।

यह जानकारी एक सरकारी एजेंसी की ओर से सोमवार को जारी आंकड़े से मिली। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा जारी किये गए वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) के अनुसार प्रदूषक पीएम 2.5 और पीएम 10 भी दिल्ली की सीमाओं से लगी इन जगहों की हवा में बने रहे।

सीपीसीबी के समीर ऐप के अनुसार 24 घंटे का औसत एक्यूआई सोमवार को शाम 4 बजे गाजियाबाद में 369, नोएडा में 368, ग्रेटर नोएडा में 349, फरीदाबाद में 353 और गुरुग्राम में 306 था। रविवार को यह गाजियाबाद में 416, नोएडा में 416, ग्रेटर नोएडा में 402, फरीदाबाद में 366 और गुरुग्राम में 288 था। जानकारी के बता दें कि शून्य और 50 के बीच एक्यूआई को अच्छा, 51 से 100 को संतोषजनक, 101 से 200 तक मध्यम, 201 से 300 को खराब, 301 से 400 को बहुत खराब और 401 से 500 गंभीर माना जाता है।

और पढ़ें
Next Story